सही समय पर पीरियड जल्दी लाने के 10 उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

Periods Jaldi lane ke Upay in Hindi : महिलाओ के लिए पीरियड्स आना एक अनचाहा और दुखदायी अहसास होता हैं। जो ना सिर्फ दर्द देता हैं बल्कि काफी ज्यादा असहजता का एक कारण भी बन जाता हैं। लडकिय जैसे ही यौन अवस्था में प्रवेश करती हैं उनको माहवारी आना शुरू हो जाती हैं। जो हर महीने आती हैं जिसका समय अन्तराल हर महिलाओ के लिए थोडा बहुत कम ज्यादा हो सकता हैं। आम तौर पर ये 3 से 7 दिन के बीच होता हैं। माहवारी का समय पर हर महीने आना स्वास्थ्य के लिए जरुरी होता हैं। लम्बे समय तक पीरियड्स मिस या लेट होने से कई समस्याए पैदा हो जाती हैं। पीरियड ना आने पर कुछ स्त्रिया कई तरह की मेडिसिन (टेबलेट) लेती हैं पर उनका असर कुछ समय के लिए ही रहता हैं। इस लेख में हम पीरियड्स जल्दी टाइम पर लाने के उपाय बतायंगे।

पीरियड ना आने का एक आम कारण प्रेगनेंसी होता हैं। इसलिए जब कभी आपके पीरियड आने बंद हो तो पहले ये सुनिश्चित कर ले की कही आप प्रेग्नेंट तो नहीं हो। जब पक्का हो जाए प्रेगनेंसी का तभी आपको नीचे बताये उपाय शुरू करने हैं।

अगर आपके पीरियड नहीं आ रहे तो ज्यादा घबराने की जरुरत नहीं हैं क्योंकि आप अकेली नहीं हो। दुनिया में बहुत सी महिलाए इस समस्या से परेशान हैं। मेडिकल भाषा में इसे oligomenorrhea के नाम से जाना जाता हैं।

महिलाओ के निचले हिस्से में अंडाशय होता हैं जो यौवन शुरू होते ही हारमोंस बनाना शुरू कर देता हैं। जिसमे हर महीने पीरियड्स के दौरान ब्लीडिंग यानी रक्त का स्त्राव होता हैं। मासिक धर्म चक्र की अवधी आम तौर पर 28 दिन होती हैं मतलब हर पीरियड ख़त्म होने के 28 दिन बाद अगले पीरियड्स शुरू हो जाते हैं। और जब ये अवधि 7 दिन से ज्यादा बढ़ जाए तो कुछ परेशानियों की वजह बन सकती हैं। जिसके निचे दिए कुछ आम वजह हो सकती हैं।

पीरियड लेट या मिस क्यों होते हैं : Irregular Periods Causes in Hindi

  • हारमोंस में उचित संतुलन ना होना।
  • शारीरिक कमजोरी अधिक होना।
  • थाइरोइड बीमारी के कारण भी ये प्रॉब्लम हो सकती हैं।
  • वजन में जायदा बदलाव आना। वजन ज्यादा बढ़ना या कम होना।
  • कुछ समय पहले डिलीवरी या गर्भपात होना।
  • शराब या धुम्रपान करना।
  • मानसिक तनाव में ज्यादा रहना।
  • गर्भाशय में असामान्यताएं
  • रजोनिवृत्ति शुरू होना।
  • एनीमिया या शुगर की बीमारी होना।

पीरियड्स जल्दी लाने के उपाय : Period aane ke upay in Hindi

पीरियड्स जल्दी लाने के उपाय : Period aane ke upay in Hindi

1. पीरियड लेट होने पर क्या करे? अगर आपका भी यही सवाल है तो उसका जवाब जीरे के घरेलू नुस्खे से किया जा सकता हैं। अनियमित माहवारी के इलाज के लिए भीगे हुए जीरे एक असरदार उपाय हैं। रात को 2 चमच्च जीरा पानी में भिगोकर रखे और सुबह होने पर वो पानी पिए। कुछ दिनों तक रोजाना ये भीगे जीरे वाला पानी पीने से पीरियड्स समय पर आने लगेगे।

2. गाजर में आयरन काफी मात्रा में होता हैं जो समय पर माहवारी लाने में फायदेमंद होता हैं। गाजर के जूस के सेवन से हारमोंस का सही संतुलन बनने के साथ उनकी कार्यप्रणाली में सुधार होता हैं। इस रेमेडी का असर रातो रात नहीं होता पर लम्बे समय तक पीरियड की समस्या से छुटकारा पाने में ये नुस्खा काफी असरदार हैं। 90 दिन तक रोजाना एक गिलास गाजर का जूस पिए।

3. एक चमच्च धनिये के बीच 2 गिलास पानी में डालकर तब तक उबाले जब तक पानी आधा ना रह जाए। अब उस पानी में से बीज अलग निकाल ले और उस पानी तो दिन में 3 बार सुबह दोपहर और रात को पिए। धनिये में emmenagogue गुण होते हैं जो मासिक धर्म को समय पर लाने में मदद करते हैं।

4. Mc लेट या ना आने पर शहद और पुदीने से मिलकर बना ये घरेलू उपाय काफी कारगर होता हैं। पीरियड्स में होने वाले पेट या कमर दर्द में भी राहत पाने के लिए इसका सेवन किया जा सकता हैं। एक चमच्च सूखे पुदीने पाउडर को एक चमच्च शहद के साथ दिन में 3 बार कुछ सप्ताह तक सेवन करे। कुछ ही दिनों में आपको सकारात्मक परिणाम दिखने लगेगे।

5. हारमोंस में संतुलन बिगड़ना पीरियड ना आने का एक प्रमुख कारण होता हैं। और करेला में कई ऐसे लाभकारी पौषक तत्व शामिल होते हैं जो हारमोंस में संतुलन बनाकर पीरियड को समय पर लाने में मदद करते हैं। जब भी पीरियड्स समबधित कोई समस्या आये कुछ दिनों तक डेली 2 चमच्च करेले का जूस पिए।

पीरियड लेट या मिस होने पर आयुर्वेदिक नुस्खे

आयुर्वेद में हर बीमारी का इलाज संभव हैं। आयुर्वेदिक दवा या नुस्खे से ट्रीटमेंट का एक फायदा ये रहता हैं की इसके साइड इफेक्ट्स नहीं होते और अगर सही परहेज़ के साथ नियमित सेवन किया जाने तो उस समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा भी पाया जा सकता हैं। स्त्रियों की पीरियड्स मिस या लेट आने की समस्या से भी छुटकारा आयुर्वेदिक नुस्खो से पाया जा सकता हैं।

  1. माहवारी रुकने या बंद होने पर दालचीनी एक चमत्कारी आयुर्वेदिक नुस्खा हैं। दालचीनी तासीर में गर्म होती हैं जिससे ये शरीर को गर्मी प्रदान करती हैं। दालचीनी में हाइड्रोक्साइकलोन भी होता हैं जो पीरियड्स को नियमित कने का काम करता हैं। एक गिलास गर्म दूध में एक चमच्च दालचीनी पाउडर मिलकर रोजाना पीना शुरू करे।
  2. एलो वेरा को पुराने समय से महिलाए अपनी मासिक धर्म की समस्या से छुटकारा पाने के लिए सेवन करते आये हैं। नेचुरल तरीके से अनियमित पीरियड्स के उपचार के लिए एलो वेरा एक अच्छी रेमेडी हैं। साफ़ एलो वेरा की पत्तियों से जेल निकले और एक चमच्च एलो वेरा गेल में उतना ही शहद मिलाये। इसे मिश्रण का सुबह के नाश्ते से पहले सेवन करे।
  3. बहुत सी महिला हमसे पीरियड्स जल्दी आने की टेबलेट या दूसरी मेडिसिन के बारे में पूछती हैं। वो माहवारी के लिए हल्दी का आयुर्वेदिक दवा के रूप में सेवन कर सकती हैं। हल्दी शरीर में गर्मी पैदा करती हैं जिससे पीरियड्स जल्दी आने में हेल्प मिलती हैं। हल्दी स्वाभाव में एंटीस्पाज्मोडिक होती हैं हिस्से मासिक धर्म में होने वाले दर्द में भी कमी आती हैं। एक गिलास दूध में हल्दी पाउडर अच्छे से मिलकर पिए।
  4. असफ़ेटिडा को भारतीय रसोईघर में कई खानों में इस्तेमाल किया जाता हैं। असफ़ेटिडा पीरियड्स आने में भी फयदेमद होता हैं। खाने में एक चुटकी असफ़ेटिडा डालकर सेवन करने से इस परेशानी में राहत मिलती हैं।
  5. आपका जो पीरियड आने का डेट होती हैं उससे 10-15 दिन पहले सुबह शाम ताज़ा अनार का रस पीना शुरू करे। इससे भी पीरियड समय पर जल्दी लाने में मदद मिलेगी।

हमारी बहनों को ये लेख पीरियड्स जल्दी लाने के घरेलू नुस्खे : Periods Late ya Miss hone par kya kare? कैसा लगा हमें जरुर बताए। किसी आयुर्वेदिक घरेलू से संबधित सवाल भी कॉमेंट्स में जरुर लिखे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!