गर्भ में बेटा होने के लक्षण लड़का पैदा करने के 5 उपाय व दवा

पुत्र प्राप्ति के उपाय इन हिंदी: हमारे समाज में ये गलत धारणा बनी हुई की लड़की पराया धन होती है और लड़का ही उनका बुढ़ापे का सहारा बनेगा. उनके वंश को आगे बढ़ाएगा. इसलिए उनकी इच्छा होती है की उनका लड़का ही  पैदा हो. इसी मानसिकता के कारण भारत में लड़का और लड़की का अनुपात घटता जा रहा है. और इसकी वजह से बहुत सी दूसरी समस्याओ को जन्म दे दिया है जैसे की लडकिया कम होने से शादी के लिए वधू नहीं मिलती. वैसे अब ये सोच धीरे धीरे बदलती जा रही है खासकर पढ़े लिखे लोग और बड़े शहरो में रहने वाले अब पुत्र पुत्री में भेद नहीं करते. आज हम जानेंगेलड़का होने के लक्षण व लड़का पैदा करने के उपाय. हालाँकि साइंस के अनुसार देखा जाए तो इन तरीको को पुत्र संतान पाने की गारंटी नहीं माना जा सकता. पर फिर भी इन उपाय को करने में कोई बुराई नहीं है.

आज के आधुनिक समय में जहा किसी भी काम में महिलाये पुरुषो से कम नहीं है वो चाहे पढाई हो, नौकरिया हो या कोई दूसरा विभाग हो. फिर भी ज्यादातर लोग आज भी लड़का होने की ही चाहत रखते है. उनके में सवाल उठता है की पुत्र प्राप्ति के लिए क्या करे. इसके लिए वो तरह तरह की बेटा पैदा करने वाली दवा, पुत्र प्राप्ति के योग और दुसरे टोटके करते है.  इसके साथ ये भी जानते है कैसे पता लगाएं कि पेट में लड़का है.

 

गर्भ में लड़का या लड़की बनने की प्रक्रिया

विज्ञानं के अनुसार पुरुष के वीर्य में 2 तरह के शुक्राणु होते है जिनसे ही निर्धारित होता है की गर्भ में पुत्र बने या पुत्री. ये शुक्राणु 2 प्रकार के होते है Y Chromosome और X chromosome.  Y Chromosome जब महिला के अंडे के सम्पर्क में आकर बच्चा बनाता है तब लड़का बनता है और जब X chromosome सम्पर्क में आता है तो लड़की. एक डॉक्टरी अध्यन के मुताबिक y शुक्राणु छोटा, कमज़ोर और तेज़ होता है और X शुक्राणु लचीला होता है जो महिला के अंदर लम्बे समय तक जीवित रह सकता है. इसलिए बेटा होगा या बेटी ये निर्भर करता है कोन सा शुक्राणु अंडा निषेचित करता है.

ladka paida karne ke upay Beta hone ke lakshan in Hindi

गर्भ में लड़का होने के लक्षण : ladka hone ke lakshan

  • पेशाब का गाढ़ा रंग होना लड़का होने का लक्षण है वही अगर पेशाब का रंग सफ़ेद है तो लड़की हो सकती है.
  • गर्भ में बेटा होता है तो महिला का दाये तरफ का स्तन (Breast) बाए स्तन से बड़ा हो जाता है.
  • गर्भवती माता के पैर ठन्डे होना
  • डॉक्टरी जांच के दौरान बच्चे की हृदय गति देखी जाती है हृदय गति अगर 140 बीट्स प्रति मिनट के अंदर है तो लड़का होने के आसार है.
  • अगर पेट में पुत्र है तो औरतो के बाल ज्यादा तेज़ी से बढ़ते है और बाल टूटने भी कम हो जाता है.
  • इन दिनों में थकावट काफी हो जाती है जिससे नींद आना स्वाभाविक है अगर आपको बायीं तरफ की करवट लेने में ज्यादा आराम लगे तो मतलब लड़का है.
  • हाथो में सूखापन आना और हाथ फटना.
  • प्रेगनेंसी (pregnancy) के दौरान वजन तेज़ी से बढ़ना.

पढ़े: प्रेगनेंसी टेस्ट पीरियड के कितने दिन बाद करे

 

पुत्र प्राप्ति लड़का पैदा करने के उपाय: ladka hone ke upay in Hindi

  1. जैसा की हमने उपर बताया बेटा पैदा करने के शुक्राणु जल्दी मरते है इसलिए आप सम्भोग ovulation होने के कुछ दिन पहले ही करे. ovulation माहवारी के बीच में समय में होता है. इससे वो शुक्राणु अंडा निषेचित जल्दी कर सकेगे और लड़का होने के चांस बढ़ेगे.
  2. सूरजमुखी के बीज खाने से भी पुत्र प्राप्ति की जा सकती है. इसके बीज में विटामिन e काफी मात्रा में पाया जाता है जो स्पर्म काउंट बढाने  के साथ लड़का बनाने वाले शुक्राणु बनाता है. इस घरेलू उपाय को करने का तरीका सरल है. आप सूरजमुखी के बीज रोजाना कहना शुरू करे या फिर इन बीजो को बादाम, दही या जामुन के साथ भी खा सकते है.
  3. प्राचीन समय से ये माना जाता है की लड़का पैदा करने के लिए मासिक धर्म के बाद चौथा, छठा, आठवा, दसवा, बरवा, चौदहवा और सौलवा दिन का समय गर्भधारण के लिए उपयुक्त है. इसलिए मासिक धर्म के बाद इन्ही दिनों पर सम्भोग करे.
  4. पुत्र सन्तान योग  के लिए Calabash नाम का फल खाना एक असरदार घरेलू उपाय है 50 से 60 ग्राम कच्चा Calabash रोजाना 2-3 महीने तक खाए. जिन्हें इसका स्वाद पसंद नहीं है वो उसमे कुछ मीठा मिलकर खाए.
  5. पोटाशियम एक ऐसा मिनरल हैं जो लड़का होने की संभावना को बढाता हैं. इसलिए आपको प्रेगनेंसी में पोटाशियम योक्त डाइट ज्यादा लेनी चाहिए. Avocado (खुबानी), बादाम, सेब, स्ट्रॉबेरी, केला और आलू कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ में जिनमे पोटाशियम काफी मात्रा में होता हैं.

 

लड़का होने की दवा : Putra Prapti ke Ayurvedic medicine

लड़का होने की आयुर्वेदिक मेडिसिन भी एक उपाय है. अश्वगंधा आयुर्वेदिक घरेलू नुस्खा पुत्र प्राप्ति की एक असरदार दवा है. इसके लिए 25 ग्राम अश्वगंधा जड़ो का चूरन आधा लीटर पानी में डालकर  तब तक उबले जब तक वो 1/4 न रह जाए. उसके बाद उसमे उबला हुआ 100 मिलीलीटर दूध डाले और आधा रहने तक उबाले. इस मिश्रण का 30 मिलीलीटर में आधा चमच्च घी डालकर सुबह के समय 2-3 महीने तक सेवन करे.

नोट: लड़का पैदा होने के इस आयुर्वेदिक उपाय को करने से पहले डॉक्टर के सलाह जरुर ले और सयम बनाये रखे

स्वामी बाबा रामदेव पतंजलि दिव्य पुत्रजीवक बीज

पुत्र सन्तान की प्राप्ति के लिए बाबा रामदेव की दिव्य पुत्रजीवक बीज नाम की हर्बल औषधि मददगार है. जिसे गाव के दूध के साथ लेने से लड़का पैदा होने की सम्भावना बढती है. अगर दूध उस गाय का हो जिसे पहले बछड़ा हुआ हो तो और बेहतर. हालाँकि कुछ समय बाद योग  गुरु बाबा रामदेव ने इसे गलत बताया. उन्होंने बताया की दिव्य पुत्रजीवक बीज एक आयुर्वेदिक दवा है जो निसंतान और बाँझपन से परेशान  दम्पति के लिए संतान प्राप्ति के लिए बनायीं गयी है.

दोस्तों इस आर्टिकल गर्भ में लड़का होने के लक्षण और पुत्र प्राप्ति के लिए हमें क्या करना चाहिए? के बारे में आपके सवाल और सुझाव निचे कमेंट सेक्शन में बताये।

30 Comments

  1. deepmala
  2. deepmala
  3. deepmala
  4. kanchan
    • Kalpesh k gohil
  5. the kinng
  6. RAJESH
  7. anaya sharma
  8. Anita
  9. Dipa
  10. Vidya karde
  11. sonu verma
  12. nidhi shinde
  13. Reshma
  14. पंकज
    • amit upadhyay
  15. Sonam
  16. shubham
  17. Balram Singh
  18. Balram Singh
  19. Suraj
  20. monika
  21. Swety
  22. sita
    • Kkkkk
  23. Kkkkk

Leave a Reply

error: Content is protected !!