वजन कम ना होने और मोटापा बढ़ने के 7 असल कारण

पेट वजन और मोटापा कम ना होने के कारण : भारत में लाखो लोग मोटापे की समस्या से परेशान हैं। वजन ज्यादा होने से ना सिर्फ दिखने में भद्दा लगता हैं पर उसके साथ में कई गंभीर बीमारियों के पैदा होने की वजह भी बनता हैं। जब वजन घटाने के लिए घरेलू नुस्खे और दुसरे तरीके के साथ एक्सरसाइज करने के बाद भी चर्बी कम नहीं होती तब परेशानी का सबब बन जाता हैं। कुछ लोग तो वेट लूस के लिए दवाइयों का भी सहारा लेते हैं पर उसके बाद भी पेट और शरीर के दुसरे हिस्सों का फैट कम नहीं होता। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं नियमित रूप से एक्सरसाइज और ख़ास डाइट और परहेज़ ना कर पाना कुछ आम कारण  होते हैं। कुछ मामलो में मोटापा कम करने के लिए वो सब करने के बाद जो करना चाहिए फिर भी वजन ना घटे तो उसके पीछे कुछ बीमारिया भी हो सकती हैं। आज हम जानेंगे वजन न घटने के कुछ आम कारण : Reasons for not losing Weight.

जब हमारा वेट कम होता हैं तो हमारी बॉडी उसके खिलाफ लडती हैं। इससे जब हम वजन कम करने के उपाय शुरू करते है तो शुरुआत में बिना ज्यादा प्रयास के भी चर्बी घटती जाती हैं पर उसके कुछ समय बाद वजन घटना या तो बंद हो जाता है या फिर काफी धीमा हो जाता हैं। इसके पीछे कुछ कारण हैं जिन्हें आप निचे जानोंगे।

पेट वजन और मोटापा कम ना होने के कारण

वजन और मोटापा कम ना होने के कारण

Vajan Motapa kam na hone ke karan in Hindi

1. नींद पूरी ना लेना

जरुरत से कम सोना जहा वजन बढाने का काम करता हैं वही वजन कम होने से भी रोकता हैं। हाल ही में किये गए एक अध्ययन से ये निकलकर आया है की दिन में 5 घंटे सोने वाली महिलाओ मोटापे का शिकार ज्यादा होती हैं उनके मुकाबले में जो रोजाना 7 घंटे सोती हैं। ऐसा इसलिए होता हैं क्योंकि कम सोने की वजह से ज्यादा भूख का अहसास कराता हैं चाहे आपको भूख की जरुरत भी ना हो। नींद की कमी कोर्टिसोल नाम के हार्मोन के स्त्राव को भी प्रभावित करता हैं जो भूख को संतुलित करने के लिए जिम्मेदार होता हैं।

इसलिए जब आप वजन कम करने के उपाय कर रहे हो तो अपनी नींद का पूरा ख्याल रखे। रोजाना 7-8 घंटे की नींद जरुर ले, कम सोना ना सिर्फ आपको शारीरिक रूप से प्रभावित करता हैं पर उसके साथ मानसिक रूप से भी गलत प्रभाव डालता हैं।

2. खाने में कैलोरी ज्यादा लेना

वजन घटाने के कैलोरी का संतुलन बनाये रखना बहुत जरुरी हैं। जो भी कुछ हम खाते पीते है उससे हमें कैलोरी मिलती हैं। मोटापा कम होना निर्भर करता हैं खाने में हम कितने कैलोरी ले रहे है और कितनी कैलोरी हम काम करने या एक्सरसाइज में खर्च कर रहे हैं।

अगर खाने में ली गयी कैलोरी हमारे द्वारा जलाई कैलोरी से ज्यादा हैं तो हमारा वजन कम नहीं होगा। कई बार ऐसा होता हैं खाने पर तो हम कण्ट्रोल करके रखते हैं पर फिर भी ज्यादा कैलोरी ली जाती हैं। इसलिए ये कैलोरी के बारे में जानकारी होना बहुत जरुरी हैं जो खाना हम खा रहे उसमे कितने कैलोरी है और weight loose diet plan के अनुसार जितनी कैलोरी जरुरी है उतनी ही ली जाए।

3. खाने में प्रोटीन की कमी

प्रोटीन वजन करने के लिए सबसे जरुरी पौषक तत्व हैं। टटल कैलोरी सेवन का 25-30% प्रोटीन लेने से आपका मेटाबोलिज्म 80-100 कैलोरी प्रतिदिन के हिसाब से बढ़ा देता हैं। जिससे आप खुद ब खुद काफी कैलोरी बर्न करते हैं। प्रोटीन खाने से भूख लगाने वाले हारमोंस को भी प्रभावित करता हैं। जिससे ज्यादा भूख भी नहीं लगने देता जिससे weight loose करने में मदद मिलती हैं।

सुबह का नाश्ता दिन की सबसे महत्वपूर्ण डाइट होती हैं। और नाश्ते में प्रोटीन युक्त खाने से आपको दिन भर भूख कम लगेगी। जब वजन कम होता है तब मेटाबोलिज्म कम होना एक साइड इफ़ेक्ट के रूप में सामने आता हैं। प्रोटीन उस साइड इफ़ेक्ट को भी कम करता हैं। इसके साथ में वेट लूस के बाद दोबारा वजन बढ़ने से भी रोकता हैं।

4. शुगर का सेवन

अगर आप वजन घटाने के लिए अपनी डाइट का पूरा ध्यान रख रहे और उसके साथ में योगा या एक्सरसाइज भी चालू है पर उसके साथ में मीठा भी काफी खा रहे तो आप बड़ी भूल कर रहे हो। मीठे पदार्थो में कैलोरी काफी मात्रा में होती हैं और ज्यादा कैलोरी मोटापे का कारण होता हैं। इसलिए जितना हो सके मीठे खाने और पीने की चीजो से परहेज़ करे। कोल्ड ड्रिंक के अलावा ज्यादा मात्रा में फलो का रस भी नहीं पीना चाहिए। उनमे मौजूद कैलोरी आपका वजन कम नहीं होने देगी।

5. नियमित रूप से एक्सरसाइज ना करना

पेट और शरीर की अतिरिक्त चर्बी घटाने के लिए एक्सरसाइज बहुत जरुरी होती हैं। एक्सरसाइज कितने होनी चाहिए ये भी एक सवाल हम सब के मन में होता हैं। उसके लिए अपने खान पान, कितना वजन कम करना हैं और बॉडी के अनुसार ही निर्धारित करना होता हैं की आपको दिन में कितने देर एक्सरसाइज करनी हैं। और ऐसा नहीं की कुछ दिन एक्सरसाइज की और फिर बीच में छोड़ दी। वजन कम करने के लिए रेगुलर एक्सरसाइज करनी जरुरी होती हैं।

6. कम पानी पीना

कई स्टडी से ये पता चला हैं वजन कम करने में पानी पीने का काफी योगदान रहता हैं। जो लोग पानी कम पीते हैं उन्हें मोटापा से छुटकारा पाने में काफी मुश्किलें आती हैं। कई एक्सपर्ट के अनुसार जो लोग खाने से आधा घंटे पहले आधा लीटर तक पानी पीते हैं वो औरो के मुकाबले लगभग 45% ज्यादा वजन कम कर पाते हैं। ज्यादा पानी पीने से मेटाबोलिज्म बेहतर होता हैं और इससे ज्यादा कैलोरी जलने में भी मदद मिलती हैं।

7. किसी बीमारी के कारण

नियमित एक्सरसाइज, अच्छी डाइट और वजन घटाने के लिए जरुरी परहेज़ के बाद भी अगर आप मोटापा कम नहीं कर पा रहे तो निराश होना स्वाभाविक हैं। वेट लूस एक जटिल प्रक्रिया हैं जिसमे डाइट, व्यायाम, नींद और कुछ दूसरी गतिविधिया शामिल होती हैं जिनपर हम कण्ट्रोल पा सकते हैं। इनके अलावा हारमोंस, उम्र और बॉडी टाइप कुछ ऐसे भी फैक्टर होते हैं जिन पर हमारा नियंत्रण नहीं होता। वजन तेज़ी से बढ़ने और कम ना होने के पीछे थाइरोइड और शुगर जैसे बीमारी भी हो सकती हैं।

इन बीमारियों के कारन भी मोटापा आ सकता हैं। इसलिए अगर आप मोटापा कम करने के सब उपाय करने के बाद भी परिणाम नहीं पा रहे हो तो आप डॉक्टर से मिलकर उनसे सलाह ले सकते हैं। अगर ऐसे कोई बीमारी है जिसकी वजह से वजन कम नहीं हो रहा तो पहले उस बीमारी का इलाज कराये।

Leave a Reply

error: Content is protected !!