यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण कारण व घरेलू इलाज के 10 नुस्खे

यूरिन इन्फेक्शन पुरुषो और महिलाओ दोनों को होने वाले एक आम स्वास्थ्य संबधित समस्या है. इसे मूत्र मार्ग संक्रमण (Urinary Tract Infection UTI) भी कहते है. ये तब होता है जब मूत्राशय या मूत्र मार्ग में बैक्टीरिया संक्रमण हो जाए और तब पेशाब के जरिये ये इन्फेक्शन बढ़ता जाता है.ज्यादा समय तक पेशाब को रोके रहने से मूत्राशय में जमा पेशाब में बैक्टीरिया पैदा हो जाते है जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ता जाता है e-coli नाम का  बैक्टीरिया ज्यादातर मामलो में संक्रमण का कारण बनता है. इसके अलावा लम्बे समय से शुगर के मरीजो और गर्भवती औरतो को भी यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन हो सकता है. अगर आपको ये समस्या पहले भी आती रही है तो आपने कभी न कभी यूरिन इन्फेक्शन की दवा के लिए एंटीबायोटिक ले होगी. वो जल्दी असर तो करती है पर उनके हमारी किडनी पर बुरे असर भी होते है. आज हम इस पोस्ट में यूरिन इन्फेक्शन का इलाज उपचार के घरेलू नुस्खे : Urine infection in hindi बताएँगे.

वैसे तो ये किसी को भी हो सकता है पर महिलाओ को इसके होने का खतरा पुरुषो के मुकाबले ज्यादा होता है. इसकी वजह है उनका मूत्र मार्ग काफी छोटा होना जिससे बैक्टीरिया आसन से वहा तक पहुच जाते हैं. अगर समय रहते पेशाब में इन्फेक्शन का उपचार न किया जाए तो इसके फैलने से हमारी किडनी ख़राब हो सकती है. एक अध्यन के मुताबिक लगभग 80 प्रतिशत लोगो को कभी न कभी ब्लैडर इन्फेक्शन हुआ है.

 

यूरिन इन्फेक्शन होने के कारण : Urine Bladder Infection (UTI) ke karan

1. ज्यादा समय तक पेशाब रोके रहना और ये बार बार करना यूटीआई होने का एक बड़ा कारण है.

2. जिन लोगो को काफी समय तक शुगर (Diabetes) है, उन्हें ये हो सकता है.

3. पानी कम पीना

4. गर्भावस्था के दौरान मूत्राशय संक्रमण जल्दी होता है.

5. रीढ़ की हड्डी में चोट (Spinal Cord Injury) की वजह से मूत्राशय पर नियंतरण ना होने के वजह से भी यूरिन इन्फेक्शन ज्यादा होता है.

6. साफ़ सफाई का ध्यान न रखना.

7. लडकियो को माहवारी (मासिक धर्म) के समय इसके फैलने के चांस ज्यादा होते है.

 

यूरिन इन्फेक्शन (पेशाब संक्रमण) के लक्षण : Urine Infection ke lakshan

  • पेशाब का रंग गहरा होना
  • बाथरूम करते समय पेशाब में जलन और दर्द होना.
  • यूरिन से अधिक बदबू आना
  • गुप्त अंगो में खाज खुजली होना.

 

उपर दिए गए मूत्र मार्ग संक्रमण के लक्षण दिखाई दे तो पहले यूरिन टेस्ट या यूरिन कल्चर जरुर करवाए.  उसके बाद निचे दिए गए यूरिन इन्फेक्शन का इलाज के घरेलू नुस्खे करे.

Urine Infection ka ilaj ke Gharelu Nuskhe upay

यूरिन इन्फेक्शन का घरेलू आयुर्वेदिक इलाज उपचार

Urine Infection ka ilaj ke Gharelu Nuskhe in Hindi

1. क्रैनबेरी (लाल रंग की खट्टी बेरी) का जूस

जब बैक्टीरिया मूत्रमार्ग के जरिये मूत्राशय में पहुच जाते है तभी UTI होता है. और क्रैनबेरी उन बैक्टीरिया को वहा तक पहुचने से रोकता है. Cranberry एक तरह से एक हल्का एंटीबायोटिक होता है जिससे हमें इस समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिलती है.

ब्लैडर इन्फेक्शन के देसी इलाज  के लिये दिन में 3-4 बार क्रैनबेरी के जूस का सेवन करे. बेहतर परिणाम के लिए इसमें सेब का रस भी मिला सकते है. अगर आपको पहले गुर्दे में पथरी (Kidney  Stone) हुई है तो इस घरेलू नुस्खे को ना करे.

 

2. अधिक से अधिक पानी पिए

यूरिन इन्फेक्शन होते ही सबसे पहले जो उपाय करना होता है वो है ज्यादा से ज्यादा पानी पिए. इससे पेशाब ज्यादा बनेगा और मूत्र के साथ बैक्टेरिया आपके शरीर से बाहर निकलेगा और इन्फेक्शन खत्म हो जायगा। किसी भी दूसरे पेशाब में इन्फेक्शन के घरेलु इलाज के साथ पानी ज्यादा जरूर पिए.

 

3. बेकिंग सोडा

मूत्र मार्ग में संक्रमण के इलाज के लिए बेकिंग सोडा भी बहुत प्रभावी है. बेकिंग सोडा पेशाब में एसिड का बैलेंस सही करता है जिससे इस दौरान हुई पेशाब में जलन और दर्द से राहत मिलती है. एक गिलास पानी में एक  चमच्च बेकिंग सोडा डालकर दिन में 2  बार पिए.

 

4. सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar)

सेब के सिरके में बहुत से लाभकारी एंजाइमों और खनिज पाए जाते है जो यूरिन इन्फेक्शन के आयुर्वेदिक इलाज में फायदेमंद होते है. सेब के सिरके को हम प्राकर्तिक एंटीबायोटिक के रूप में ले सकते है.

एक गिलास पानी चमच्च सेब सिरके की डाले और उसे अच्छे से मिला ले. बेहतर और जल्दी असर के लिए उसमे निम्बू का रस और थोड़ा  शहद भी मिला ले. दिन में 2 बार इस घरलू उपाय को करे जब तक की इन्फेक्शन पूरी तरह समाप्त न हो जाए.

 

5 . गर्म पानी से सिकाई

अगर आपको ब्लैडर इन्फेक्शन के वजह से दर्द हो रहा है तो गरम पानी को प्लास्टिक की एक बोतल में डाले और उससे मूत्राशय (ब्लैडर) की सिकाई करे. इससे वह दबाव काम होने से दर्द से रहत मिलेगी और उसकी साथ सूजन भी कम होगी। ध्यान रहे पानी ज्यादा भी गरम ना हो जिससे त्वचा जल जाए.

 

6 . अनानास 

अनानास में Bromelain नाम का एक एंजाइम होता है. जो किडनी और पेशाब में इन्फेक्शन के इलाज में मददगार है. किडनी में सूजन को काम करने में भी अनानास लाभकारी है.

रोजाना अनानास काट कर खाये इससे आपका इन्फेक्शन तो होगा ही उसके साथ भविष्य में यूरिन ट्रैक्ट इन्फेक्शन से बचाव होगा। इसकी जगह आप अनानास का जूस भी पी सकते है.

 

7. लहसुन का सेवन करे

लहसुन को जीवाणुरोधी गुण के लिए जाना जाता है। यूरिन इन्फेक्शन होने का प्रमुख कारण होता है हमारे यूरिन ब्लैडर में बैक्टीरिया जमा हो जाना और लहसुन के सेवन से उन बैक्टीरिया को समाप्त किया जा सकता है।

3 से 5  लहसुन के कली ले और उनका पेस्ट बनाकर उसमे मक्खन मिलाये और उसका सेवन करे। अगर आपको लहसुन की दुर्गन्ध से कोई दिक्कत नहीं है तो आप सीधा कुछ लहसुन की कालिया निगल भी सकते है।

 

यूरिन इन्फेक्शन रोकने और बचने के घरेलू उपाय: Urine Infection se bachne ke Upay

  • यूरिन इन्फेक्शन से बचने के लिए हर रोज आधा गिलास क्रैनबेरी का रस पिए.
  • अपने गुप्त अंगो की सफाई अच्छे से रखे. रोजाना नहाये और उन अंगो को साफ़ रखे.
  • अगर आपके पार्टनर को UTI  है जब ता वो पूरी तरह ठीक न हो जाए तब तक उससे सम्भोग ना करे.
  • मूत्र मार्ग में संक्रमण से बचने के लिए गौमुखासन बाबा रामदेव योग करे
  • जब भी कभी पेशाब प्रेशर बने तो उसी समय कर ले. ज्यादा समय तक रोके न रखे.
  • प्याज़ को अपने  खाने में जरूर शामिल करे. प्याज़ पेशाब में संक्रमण होने से रोकता है

बाबा रामदेव आयुर्वेदिक पतंजलि दवाइयाँ लिस्ट

दादी माँ के देसी घरेलू नुस्खे व उपचार

 

हमें उम्मीद है ऊपर बताये गए यूरिन इन्फेक्शन के घरेलु इलाज के नुस्खे और उपाय से आपको आराम मिलेगा. अगर इस बारे में आपकी कोई सलाह या सवाल है तो नीचे कमेंट में जरुर डाले.

10 Comments

  1. राम कुमार
  2. somveersingh
  3. Khim
  4. pushap raj
  5. Rekhs
  6. Deepak Agrahri

Leave a Reply

error: Content is protected !!