टीबी का घरेलू इलाज लक्षण और TB के उपचार के 7 सफल नुस्खे

TB Tuberculosis Treatment in Hindi: टीबी की बीमारी का समय पर इलाज न किया जाए तो ये जानलेवा भी साबित हो सकती है। TB की फुल फॉर्म Tuberculosis होती है जो इस बीमारी का असल नाम है। ये रोग mycobacterium tuberculosis नाम के बैक्टीरिया के कारण हुए इन्फेक्शन से होता है जो हमारे फेफड़ो (lungs) को प्रभावित करते है। 3-4 हफ्ते से ज्यादा समय तक खांसी रहना, छाती में दर्द रहना और थूक का रंग बंदला हुआ होना टीबी के लक्षण में से है। इसे छूत की बीमारी भी कहा जाता है। कुछ समय पहले तक टीबी का उपचार सभव नहीं था पर आज के समय में इस बीमारी का इलाज किया जा सकता है। कई प्रकार की देसी आयुर्वेदिक दवा से इस रोग से छुटकारा मिल जाता है। 2010 में किये गए एक सर्वे के अनुसार विश्व में सबसे ज्यादा TB के रीज भारत में थे। चलिए आज टीबी का घरेलू इलाज के आयुर्वेदिक नुस्खे: TB ke Lakshan in Hindi जानते है।

 

टीबी के लक्षण : TB Tuberculosis symptoms in Hindi

  • लगातार खांसी होते रहना।
  • छाती में दर्द उठना (Chest Pain)
  • भूक ख़त्म हो जाना
  • रात को पसीना काफी आना
  • थकन और कमज़ोरी महसूस होना
  • बुखार चढ़ जाना
  • सांस लेने और खांसने  के समय भी दर्द होना टीबी के लक्षण में से एक है
  • खांसी के साथ मुँह से खून भी आना

टीबी का टेस्ट (जाँच) करने के लिए रोगी का बलगम या थूक लिया जाता है। और उस बलगम का माइक्रोस्कोप के जरिये जांचा जाता है की उसमे TB का बैक्टीरिया है या नहीं। उसके बाद ही आगे का ट्रीटमेंट किया जाता है।

टीबी का इलाज लक्षण उपचार TB Tuberculosis Treatment in Hindi

टी बी कैसे होता है Tb के फैलने के कारण

टीबी की बीमारी mycobacterium tuberculosis नाम के बैक्टीरिया से हुए infection की वजह से होता है। जिन लोगो का immune system कमज़ोर होता है उनको tb होने की सम्भावना ज्यादा होती है। बच्चे, बूढ़े, गर्भवती महिला जिन्होंने हाल ही में बच्चे को जन्म दिया है, शुगर, कैंसर और hiv एड्स के मरीजों को टीबी होने का खतरा ज्यादा रहता है। क्योंकि इनकी रोग प्रतिरोधक अक्षमता काफी कम हो जाती है।

इसके अलावा जो गन्दगी वाली जगह पर रहते है या अपने आस पास सफाई नहीं रखते उन्हें भी ये रोग हो सकता है।

अगर किसी को टीबी पहले से है और आप उसके ज्यादा पास में आते है या आपके घर में किसी को है तो ये बीमारी आपको भी चपेट में ले सकती है। इसलिए टीबी को छूत की बीमारी कहते है।

 

टीबी का घरेलू इलाज: TB Tuberculosis Treatment in Hindi

टीबी के लक्षणों को पहचान के बाद ही टीबी का ट्रीटमेंट शुरू किया जाता है। इसका इलाज लम्बे समय तक चलता है ऐसे नहीं की रातो रात इससे छुटकारा मिल जायगा। TB के पूरे इलाज के लिए डॉक्टरी ट्रीटमेंट जरुरी है। उनके साथ निचे दिए गए नुस्खे करके इस बीमारी से जल्दी निजात पायी जा सकती है।

 

1. केले से टीबी का उपचार

पुराने समय से केले को टीबी के उपचार के लिए लिया जाता रहा है। केला immune system तो बेहतर बनाता ही है उसके साथ टीबी के लक्षणों खांसी और बुखार ठीक करने में भी मदद करता है।

पके हुए एक केले का पेस्ट बनाये और उसमे एक कप नारियल पानी, आधा कप दही और आधा चमच्च शहद की मिलाये। और इस मिश्रण का रोजाना सेवन करे। इसके अलावा केले का जूस बनाकर पिए।

 

2. आवंला से टी बी का रामबाण इलाज

आंवला जिसे आमला भी कहते है antibacterial और anti inflammatory होता है जिससे टीबी के इलाज में मदद मिलती है। आंवले में काफी ऐसे पौषक तत्व होते है जिससे हमारी बॉडी को काफी उर्जा मिलती है।

3-4 ताज़ा आंवले का जूस निकाले और उसमे एक चमच्च शहद मिला ले और सुबह खाली पेट इसे पिए।

 

3. लहसुन से टी बी ट्रीटमेंट

लहसुन में सल्फ्यूरिक एसिड होता है जो टीबी बीमारी को पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने में मददगार है। इसके अलावा इसमें allicin और ajoene भी होते है जो बैक्टीरिया बढ़ने से रोकते है। लहसुन को कच्चा या पकाकर दोनों तरह से खा सकते है .

आधा चमच्च कटे हुए लहसुन ले उसमे एक कप दूध और 4 कप पानी मिलाये और तब तक उबाले जब तक ये मिश्रण एक चौथाई ना रह जाए। इस लहसुन से बने मिश्रण का दिन में 3 बार सेवन करे।

 

4. संतरे का जूस

संतरा बहुत से खनिज और लाभदायक पौषक तत्वों से भरपूर फल है। संतरा हमारे फेफड़ो में हुए इन्फेक्शन को काफी हद तक कम करने में मदद करता है उसके अलावा दूसरी तरह के संक्रमण से भी बचाव करता है।

एक गिलास संतरे के जूस में एक चमच्च शहद और थोडा नमक मिलकर पिए। रोजाना सुबह शाम दिन में 2 बार 1-1 गिलास संतरे का जूस पिए।

 

5. अखरोट खाए

टीबी होने का सबसे बड़ा कारण होता है इम्यून सिस्टम का कमज़ोर होना। अखरोट खाने से हमारा इम्यून सिस्टम को बेहतर होता है और इस ड्राई फ्रूट में पाए जाने वाले कई फायदेमंद पौषक तत्वों होने से टीबी का घरेलू इलाज और आसान हो जाता है।

कुछ अखरोट को पीसे और 2 चमच्च पिसे हुए अखरोट में एक चमच्च लहसुन का पेस्ट मिलाये। अब इसमें एक चमच्च बटर मिलाये और रोजाना इस घरेलू नुस्खे का सेवन करे।

 

टीबी का आयुर्वेदिक उपचार के घरेलू नुस्खे

  1. टी बी में रोगी को काफी खांसी होती है उस लगातार खांसी और बैक्टीरिया के कारन छाती में सुजन आ जाती है। काली मिर्च उस सुजन को कम करती है और उसके अलावा फेफेड़ो में इन्फेक्शन की वजह से होने वाले दर्द से भी रहत पहुचती है। काली मिर्चे आपके फेफड़ो की सफाई भी करती है। 8-10 काली मिर्चे बटर में डालकर भुन ले उसमे एक चुटकी asafetida पाउडर की भी डाल ले। अब इसे थोड़ा ठंडा होने के बाद इसे तीन हिस्सों में बाँट ले। अब इन तीन खुराकों को दिन में 3 बार कुछ घंटो के अंतराल में ले।
  2. आधा गिलास प्यास के रस में एक चुटकी हींग की डालकर सुबह खाली पेट पीने से टीबी का उपचार में मदद मिलती है।
  3. एक गिलास दूध में एक चमच्च हल्दी पाउडर और एक चमच्च गाय का शुद्ध देसी घी मिलकर उबाले और ठंडा करके रात को सोने से पहले पीने से TB (Tuberculosis) में फायदा मिलता है।

 

टीबी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं: TB Patient Diet in Hindi

  • सब्जी में घीया (लौकी) की सब्जी खाए। इस हरी सब्जी खाने से इम्युनिटी शक्ति बढ़ेगी और बैक्टीरिया से बचाव होगा।
  • खाने और चाय में अदरक का इस्तेमाल जरुर करे। अदरक टीबी के इलाज में फायदेमंद है।
  • नार्मल चाय की जगह ग्रीन टी ही पिए। इसमें polyphenol होता है जो टी बी के बैक्टीरिया से बचाव करता है।
  • इस रोग से पीड़ित को रोजाना अनानास का जूस पीना चाहिए। बकरी का दूध भी पिए।
  • तले हुए और मसालेदार खाना ना खाए। सादा हरी सब्जिया और सभी दालो का सेवन करे।

 

टीबी (TB) से बचाव और फैलने से रोकने के उपाय

  • बच्चो को इस छूत की बीमारी से बचाने के लिए TB का टीका लगवा ले।
  • इस रोग के होने का सबसे बड़ा कारण होता है साफ़ सफाई न रखना। अपने आस पास सफाई रखे और खांसते समय मुह पर हाथ रखे।
  • अपनी रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ने के लिए अच्छा खानपान रखे। फल, सब्जिय और ड्राई फ्रूट से परिपूर्ण संतुलित आहार ले।
  • जब भी आपको टीबी के लक्षण सिखाई दे तो लापरवाही न करे, तुरंत डॉक्टर के पास जाए।
  • अगर आपके परिवार में या किसी जानने वालो को टीबी हुआ है तो उनसे थोड़े दुरी बनाए रखे।
  • खाना खाने से पहले हाथ साबुन से धोना ना भूले।
  • शराब और सिगरेट का सेवन बंद कर दे।

 

प्रिय पाठको आपका हमारे इस आर्टिकल टीबी का घरेलू इलाज ,लक्षण : TB Tuberculosis Treatment in Hindi? के बारे में कोई सवाल है जो निचे शेयर करे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!