प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाए डाइट इन हिंदी

Pregnancy me kya khana Chahiye in Hindi: सुन्दर स्वस्थ और गोरा बच्चा पैदा करना हर माता पिता की इच्छा होती है। इसके लिए गर्भवती महिला को काफी ख्याल रखने की जरुरत होती है वो प्रेगनेंसी में क्या खाये क्या नहीं खाना चाहिए इसका ध्यान रखना जरुरी होता है। क्योंकि इस दौरान माँ जो भी खाती है उसका सीधा असर गर्भ में पल रहे बच्चे पर पड़ता है। गर्भवती महिला के लिए भोजन में सब ऐसे पौषक तत्व होने चहिये जिससे बच्चा हस्ट पुष्ट निरोगी पैदा हो। हमें एक बात ध्यान रखनी चहिये माँ जो खा रही वो माँ और बेटे 2 जनो के लिए है। इसलिए प्रेगनेंसी में औरतो को विशेष डाइट लेनी चहिये जिसमे फल (fruits), सब्जिया और दूसरे खाद्य पदार्थ संतुलित मात्रा में खाने चहिये। गर्भावस्था में माँ का इम्यून सिस्टम कमज़ोर हो जाता है जिससे माँ और बच्चे दोनों के बीमार होने की भी आशंका ज्यादा होती है। तो चलिए आज जानते है प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाए : Pregnancy me konsa fruit khana chahiye.

प्रेगनेंसी में क्या खाना चहिये Pregnancy me kya fruit khana Chahiye Diet

प्रेगनेंसी में क्या खाना चहिये : गर्भवती महिला के लिए भोजन

Pregnancy me kya khana Chahiye Diet in Hindi

गर्भावस्था में कुछ ऐसे फल और फ़ूड है जिन्हें खाना माँ और बच्चे के लिए जरुरी होता है। ऐसे ही कुछ खाने और फ्रूट्स हमने निचे बताए है जिन्हें प्रेगनेंसी में खाना चहिये।

1. अंडे (egg)

अंडा सभी तरह के पौषक तत्व से भरपूर एक खाना है। एक अंडे में 80 से ज्यादा कैलोरी होती है जो प्रेग्नंट महिना की लिया आवश्यक उर्जा की पूर्ति करता है। अंडा में प्रोटीन भी काफी होता है और 12 विटामिन के साथ कई फायदेमंद मिनरल होते है

अंडे में choline और ओमेगा फैट होते है जो गर्भ में पल रहे बच्चे के दिमाग और सम्पूर्ण विकास में मदद करते है। प्रेगनेंसी में महिला को 1 से 2 अंडे रोजाना खाने चहिये। जिन महिलाओ को कोलेस्ट्रोल समस्या है वो अंडे का सफ़ेद हिस्सा ही सेवन करे।

 

2. अखरोट खाए

गर्भवती महिला के भोजन में अखरोट को भी शामिल किया जाना चाहिए। अखरोट खाने से ओमेगा 3 एसिड और प्रोटीन काफी मात्रा में मिलता है और साथ में फाइबर भी भरपूर मात्रा में होता है जिससे प्रेगनेंसी में बच्चे के लिए अखरोट के फायदे बढ़ जाते है। माँ को रोजाना कुछ अखरोट खाने चाहिए।

 

3. दूध पिए

दूध को एक सम्पूर्ण आहार माना जाता है जिसमे सब तरह के जरुरी तत्व मौजूद होते है जो एक स्वस्थ और निरोगी बच्चा पैदा होने के लिए जरुरी है। विशेषकर दूध में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन डी होते है जो बच्चे के तेज़ी से विकास और बीमारियों से बचाने में मदद करते है। कैल्शियम की कमी हो जाना प्रेगनेंसी में एक आम समस्या होती है जो दूध पीने से दूर हो जाती है इसलिए गर्भावस्था में माँ को रोज एक से दो गिलास दूध जरुर पीना चहिये।

 

4. खूब पानी पिए

प्रेगनेंसी में खून की मात्रा बढ़ जाती है जिससे शरीर में पानी की कमी हो जाती है जिससे सिर दर्द, थकान, यादास्त कमज़ोर हो जाना, और बुरा मूड रहना जैसी समस्या पैदा हो जाती है। इसके अलावा पानी पीने से कब्ज और यूरिन इन्फेक्शन से बचाव होता है। इसलिए माँ को पानी नार्मल से ज्यादा पीना चाहिए।

 

5. दही जरुर खाए

अगर आप चाहते है आपका बच्चा कमज़ोर पैदा ना हो और उसकी हड्डिय मजबूत हो तो माँ को दही जरुर खानी चहिये। गर्भ में बच्चे में सब जरुरी पोषण माँ से मिलता है जिससे कई बार माँ में कमजोरी आ जाती है। इसलिए माँ को अपने डाइट का विशेष ख्याल रखना जरुरी बन जाता है। दही कैल्शियम और प्रोबायोटिक्स का एक उच्च स्त्रोत होता है जिससे गर्भावस्था के दौरान माँ के अंदर कमजोरी नहीं बनेगी।

 

प्रेगनेंसी में कौन से फल खाए : Pregnancy me konsa fruit khana chahiye

  1. एवोकाडो नाम के फल में फोलिक एसिड उच्च मात्रा में पाया जाता है जो बच्चे के बढ़ने के लिए जरुरी है। इसलिए प्रेगनेंसी में एवोकाडो फ्रूट खाना चहिये।
  2. गर्भवती महिला को कब्ज़ की शिकायत काफी रहती है और आम एक ऐसा फल है जो हाजमा सही करता है और कब्ज़ बनने से बचाता है। आम में विटामिन a और c भी होते है जो बच्चे के लिए अच्छे है।
  3. प्रेगनेंसी में अनार खाना भी काफी फायदेमंद रहता है। इसमें मौजूद फोलेट, आयरन, कैल्शियम और विटामिन c प्रेग्नेंट महिला की जरूरतों को पूरा करता है।
  4. संतरा में विटामिन c और कई ऐसे मिनरल होते है जो माँ को इन्फेक्शन से बचाते है इसलिए गर्भावस्था में संतरे भी खाने चहिये।
  5. प्रेगनेंसी में रोग प्रतिरोधक अक्षमता कमज़ोर हो जाती है जिससे बढाने में अमरुद काफी मदद करता है और ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में भी अमरुद फायदेमंद फ्रूट है।

 

Pregnancy में क्या खाना चहिये की बच्चा (baby) गोरा पैदा हो

बच्चा गोरा हो या काला ये महत्वपूर्ण नहीं है बल्कि बच्चा हेल्थी हो निरोगी हो ये असल में मायने रखता है। पर हमारे भारतीय समाज में ज्यादातर पेरेंट्स और परिजनों को गोरे बेबी की चाहत होती है। तो चलिए आज हम बताएँगे सुन्दर और गोरा बच्चा पाने के लिए प्रेगनेंसी में क्या खाना चहिये

  • केसर से रंग गोरा होता है ये तो आपने सुना ही होगा। प्रेगनेंसी में भी केसर माँ और पैदा होने वाले बच्चे का रंग साफ़ करता है बच्चा पैदा होने के बाद भी अगर उससे दूध में डालकर पिलाये तो भी सांवला रंग साफ़ होने लगेगा। प्रेगनंट महिला दूध में केसर मिलकर पिए पर एक बाद विशेष रूप से याद रखे केसर का अधित सेवन गर्भाशय सिकुड़ने का कारण बन सकता है।
  • बेबी गोरा पैदा हो उसके लिए बादाम खाना भी काफी असरदार होता है। बादाम खाने का सही तरीका भिगो कर खाना है। रात को एक कप पानी में कुछ बादाम की गिरी भिगोकर रख दे और सुबह उन्हें छीलकर खाए।

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए खानपान परहेज इन हिंदी

ये भी पढ़े: लड़का पैदा करने के उपाय और लक्षण

 

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चाहिए : खानपान परहेज इन हिंदी


गर्भावस्था का समय हर महिला के लिए एक सुखद एहसास जैसा होता है। अगर आप गर्भवती है तो आपको ढेरो सलाह मिलती है की ये खाओ ये मत खाओ। और आपका मन करता है आपके पसन्दीदा खाने का, पर प्रेगनेंसी के किसी भी महीने में आप खाने में लापरवाही नहीं कर सकते। आज हम कुछ ऐसे फ़ूड और फ्रूट्स बताएँगे जो आपको नहीं खाने चहिये

  • एक फल जिसे डॉक्टर बड़ी सख्ती से खाने को मना करते है गर्भावस्था में वो है पपीता। आप में से कुछ लोगो को शायद ये जानकार थोडा आश्चर्य हो पर ये बिलकुल सही है। हमने अपने पिछले लेख में भी बताया है की कैसे पपीता प्रेगनेंसी रोकने के उपाय के रूप में काम करता है। पपीता खाने से प्रसव समय से पहले हो जाता है जिससे गर्भपात होने की सम्भावना बढ़ जाती है।
  • अनानास दूसरा ऐसा fruit है जिसे प्रेगनेंसी में नहीं खाना चहिये। अनानास को ऐसे फलो में गिना जाता है जो हमारी बॉडी में गर्मी पैदा करता है जिसके कारण समय से पहले प्रसव पीड़ा और गर्भपात की आशंका बढती है।
  • भारतीय घरो में बंनने वाली सब्जियों में बैंगन आम तौर पर बनायीं और खायी जाती है। इसमें कुछ ऐसे तत्व पाए जाते है जो माँ और बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकते है। हालाँकि कभी कभार कम मात्रा में इसे खा सकते है।
  • सौंफ और धनिये को जहा डिलीवरी के बाद फायदेमंद माना जाता है पर वाही अगर इन्हें प्रेगनेंसी में खाए तो इनसे नुकसान हो सकते है। इसलिए इन मसालों का कहने में कम से कम उपयोग करे।
  • प्रेगनेंसी में अंगूर फल भी नहीं खाना चहिये। अधिक मात्रा में अंगूर खाने से तापमान में वर्धी होती है जो माँ के लिए अच्छा नहीं है। और इस फ्रूट में Resveratrol नाम का एक यौगिक भी पाया जाता है जो महिलाओ में हार्मोन्स का संतुलन बिगाड़ सकता है जिससे आगे चलकर कुछ समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है।

देखे: बाल झड़ना रोकने के 15 सफल उपाय

ilajUpay के इस लेख प्रेगनेंसी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाए  : Pregnancy me konsa fruit khana chahiye in Hindi? के बारे में अपने सवाल और सुझाव जरुर दे। अगर हमारी किसी बहन के पास गर्भवती महिला के लिए भोजन और गर्भावस्था डाइट के बारे में सलाह है तो वो भी निचे जरुर लिखे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!