पीलिया का देसी इलाज, लक्षण और परहेज – पीलिये में क्या खाएं

पीलिया का इलाज, लक्षण, परहेज | Piliye Jaundice ka ilaj in Hindi

पीलिया (jaundice) एक ऐसा रोग है। जो किसी भी आयु के व्यक्ति छोटे से लेकर बड़े किसी मे कभी भी हो सकता है। इस रोग मे मनुष्य का शरीर पीला पड़ने लग जाता है। और शरीर मे अधिक कमजोरी आने लग जाती है। यह रोग लीवर मे किसी प्रकार के संक्रमण से होता है। कभी कभी इसके लिए कुछ बैक्टीरिया भी ज़िम्मेदार होते है। इस रोग से शरीर मे पानी की कमी होने लग जाती है। पाचन सकती खराब होने के कारण शरीर मे खून बनना बंद हो जाता है। जिससे शरीर का रंग पीला पड़ने लग जाता है। इसी को पीलिया कहा जाता है। वेसे तो यह एक सामान्य रोग है। लेकिन उचित समय पर इसका सही उपचार न होने के कारण कभी कभी यह रोग जानलेवा साबित भी हो जाता है। इसीलिए आज हम आपको पीलिया का देसी इलाज, लक्षण, परहेज (Piliye ke desi ilaj, lakshan, parhez, bachav) के बारे मे बताएंगे।

पीलिया का देसी इलाज, लक्षण, परहेज

पीलिया होने के कारण । Piliye ke karan in Hindi

  • दूषित भोजन खाने से लीवर मे समस्या उत्पन्न हो जाती है। इसिलए दूषित भोजन का सेवन न करे
  • गन्दा पानी पीने से or पानी को साफ करके न पीने से भी यह रोग हो जाता है ।
  • अधिक मात्रा मे शराब (alcohol) का सेवन करने से लीवर पर काफी असर पड़ता है जिस कारण पीलिया हो सकता है।
  • ज्यादा मसाले (spicy) वाली चीज़े खाने से लीवर पर बुरा असर पड़ता है इन सभी कारणों से पीलिया बीमारी होने का खतरा रहता है

जाने: टाइफाइड बुखार का आयुर्वेदिक इलाज के उपाय

 

पीलिये के लक्षण । Piliya (Jaundice) ke lakshan

  1. रोगी को अधिक बुखार रहना।
  2. जी मिचलाना और कभी कभी उल्टियाँ होना।
  3. सिर मे दर्द होना (headache)
  4. आँख और नाखुनो का पीला होना।
  5.  पेशाब पीला आना (yellow urine)
  6. अत्यधिक कमजोरी व थका हुआ महसूस करना।
  7. त्वचा का रंग भी पीला हो जाना।

आमतोर पर पीलिया होने पर रोगी व्यक्ति के शरीर पर ये सभी लक्षण दिखाई देने लग जाते है। जिनका घरेलू नुस्खो व बचाव द्वारा उपचार किया जा सकता है।

 

पीलिया मे परहेज – पीलिया में क्या खाएं

  • हमेशा पानी को उबालकर और साफ पानी ही पिए।
  • अधिक तीखे और मसालेदार भोजन खाने से बचे
  • पौष्टिक और कैल्शियम युक्त भोजन का ही सेवन करे
  • ज्यादा तेल (oil) मे तली चीजों का सेवन करने से परहेज करे
  • शराब और लीवर को नुकशान पहुचाने वाली चीजों का सेवन न करे
  • रात का बचा हुआ बासी भोजन खाने से परहेज करे

इन उपयोगी बातो का ध्यान रख पीलिया में परहेज और खान-पान का ध्यान रखने से आप ये खतरनाक बीमारी  होने से बच सकते है।

 

पीलिये का घरेलु देसी इलाज | Piliya ka ilaj – Jaundice treatment in hindi

1.टमाटर का रस (tomato juice):- पीलिया रोग होने पर एक गिलास टमाटर के जूस मे एक चुटकी नमक और काली मिर्च को मिलाकर सुबह खाली पेट पीने से पीलिया रोग मे फायदा मिलता है

2. मुली की पत्ती:- मूली की पत्तियों को बारीक़ पीसकर, उसका रस निकाले लगभग आधा लीटर मूली की पत्तिया ले कर रस रोजाना पिए 10 से 5 दिन के भीतर रोगी व्यक्ति को पीलिये के इलाज में लाभ होगा  .

3.पपीते की पते:-एक चम्मच पपीते के पते का पेस्ट बनाकर उसमे एक चम्मच शहद को अच्छी तरह से मिला ले, और इस रोजाना कम से कम दो हफ्तों तक खाए यह उपाय पीलिये के उपचार के लिए यह एक बहुत ही फायदेमंद घरेलू नुस्खा है.

4. बादाम (badam):-बादाम की 9 गिरी, 3 खजूर और 5 इलायची को पानी मे पूरी तरह से भिगोकर कर रख दे सुबह इन सबके छिलके उतारकर सभी गिरी को अच्छे से पिस ले, और इसका पेस्ट बना ले इसमें थोडा सा मखन और चीनी मिलाकर खाए यह नुस्खा पीलिये रोग मे काफी उपयोगी माना जाता है।

5.केमोमाइल चाय:-केमोमाइल पीलिया रोग मे बेहद ही फायदेमंद माना जाता है। केमोमाइल की पत्तियों की चाय बनाकर पीने से पीलिया रोग मे जल्दी से सुधार आ जाता है इस चाय को पीलिया रोग खत्म होने के बाद भी फायदेमंद माना जाता है।

6.आंवला:- आंवला विटामिन (vitamin c) सी से भरपूर होता है। पीलिये के रोग मे आंवले का सेवन करने से बेहद लाभ होता है। आंवले के सेवन से लीवर भी मजबूत होता है।

7. गन्ने का प्रयोग:- गन्ना, पाचन क्रिया को दरुस्त करता है। साथ ही लीवर को भी बेहतर तरीके से कार्य करने मे मदद करता है एक गिलास गन्ने के रस मे नींबू का रस मिलाकर रोजाना पीने से पीलिया रोग मे राहत मिलती है।

8. नींबू का रस (nimbu juice):-नींबू का रस लीवर को खराब होने से बचाता है। एक गिलास पानी मे एक या दो नींबू निचोड़ कर रोजाना पिए यह नुस्खा पीलिया का उपचार मे एक कारगर उपाय है।

8.तुलसी की पत्ती:-तुलसी की 10 से 15 पत्ती का पेस्ट बनाकर, गाजर के रस मे मिला दे इस रस को प्रतिदिन, दो से तीन हफ्तों तक पिए इससे पीलिया से जल्द ही छुटकारा मिल जायगा.

9. केला (banana):-पके हुए केले को अच्छे से कुचलकर, उसमे शहद मिलाये इस तरह से केले को दिन मे दो बार खाना बहुत लाभकारी होता है।

10. प्याज (onion):-पीलिये के रोग मे प्याज बहुत ही लाभकारी माना जाता है। सबसे पहले प्याज को अच्छी तरह से छिल ले फिर इसके पतले टुकड़े करके इसमें नींबू के रस को निचोड़ दे इसके बाद काली मिर्च पिसी हुई और नमक डालकर रोजाना सुबह शाम खाने से पीलिया रोग जल्द ही ठीक हो जाता है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!