पेशाब में रुकावट का इलाज और यूरिन रुक रुक कर आने के उपाय

पेशाब रुक रुक कर आने का इलाज: मूत्र मार्ग में किसी वजह से आई रुकावट के कारण जब पेशाब रुक रुक कर आता है या बिलकुल नहीं आती उसे पेशाब की रुकावट कहते है. महिलाओ और पुरुषो दोनों को ये यूरिन ब्लॉकेज की समस्या हो सकती है. नवजात शिशु (बच्चे) को पेशाब में रुकावट उनके जन्म के समय या बाद में बन सकती है. गुर्दे में पथरी, मर्दों में प्रोस्टेट का बढ़ना या किसी तरह की दुर्घटना में लगी चोट इसके होने के आम कारण होते है. पेशाब ना आने पेशाब खुलकर न आना या कम आने से पेशाब में जलन, रंग पीला होना, यूरिन इन्फेक्शन और दर्द जैसे दूसरी पीड़ादायक परेशानियों का भी सामना करना पडता है. हमारा ब्लैडर पूरा खाली न होने के वजह से वहा पर एक दबाव बन जाता है जिससे मूत्र वापिस हमारे किडनी (गुर्दे) की तरफ जा सकता है जिससे किडनी ख़राब होने तक का खतरा बन जाता है. ज्यादातर मामलो में रुक रुक कर पेशाब आने का ट्रीटमेंट दवा या सर्जरी के जरिये किया जाता है. पर इस लेख में आप जानेंगे पेशाब में रुकावट का इलाज के घरेलू नुस्खो और उपाय.

 

हमारे शरीर में 2 किडनी होती है जिनका काम खून से यूरिक एसिड और एमिनो एसिड जैसे विषेले पदार्थो को बहार निकालकर सफाई करना है. ऐसे गन्दगी को किडनी पेशाब के रूप में बहार निकलती है जो किडनी से हमारे ब्लैडर (मूत्राशय) में जमा होता रहता है.  जब किसी वजह से पेशाब में रुकावट बनती है तो पेशाब की थैली (ब्लैडर) में दबाव बनता जाता है और ज्यादा समय तक मूत्र इकठ्ठा रहने से वहा बैक्टेरिया बनने लगते है जिससे वह इन्फेक्शन होने के आशंका बढ़ जाती है जिसे यूरिन ट्रैक्ट इन्फेक्शन भी कहते है. कई बार दबाव से पेशाब वापिस किडनी की तरफ भी चला जाता है जिससे किडनी ख़राब हो सकती है इसलिए इस पेशाब के रोग में लापरवाही नहीं करनी चाहिए.

Peshab me Rukawat ka ilaj aur Urine ruk ruk kar aane ke Upay

Peshab me Rukawat ka ilaj

पेशाब  में रुकावट के कारण : Urine Blockage Cause in Hindi

  • पेशाब के रास्ते में पथरी फसने से हुई रुकावट.
  • पाचन तंत्र में हुई बीमारिया
  • खून के थक्के जमने की वजह से भी कई बार बूंद बूंद करके पेशाब आता है.
  • पुरुषो में उम्र बढ़ने के साथ कई बार प्रोस्टेट ग्लैंड बढ़ जाती है जो यूरिन ब्लॉकेज का कारण बन सकती है.
  • यूरिन इन्फेक्शन से भी कई बार पेशाब न आना की समस्या हो सकती है.

जाने : बार बार पेशाब आने के कारण इलाज और घरेलू उपाय

रुक रुक कर पेशाब आने का इलाज के घरेलू नुस्खे

Peshab me rukawat ka gharelu ilaj ke upay in Hindi

1. पेशाब में रुकावट के देसी इलाज के लिए कुकडी (भुट्टे) के लगभग 35 ग्राम बाल पानी में डालकर तब तक उबले जब तक पानी आधा न रह जाए. अब इस पानी को पी ले, इससे पेशाब खुलकर आयगा.

2. जामुन के बीजो को अच्छी तरह पीस कर उसका पाउडर बना ले. आधा कप जामुन पाउडर को एक कप ताज़ा दही में मिलाये और इस इसका सेवन करे. ये पेशाब के रोगों का असरदार घरेलू देसी नुस्खा है. जिनको बूंद बूंद करके यूरिन आता है उनको लिए ये काफी कारगर उपाय है.

3. पेशाब के दौरान होने वाले दर्द और रुकावट के उपचार के लिए मूली का रस एक रामबाण उपाय है. जब भी ये समस्या आये मुली का रस पिए.

4. निम्बू के बीजो को पीस कर उसमे थोडा पानी मिलकर पेस्ट बनाये. इस पेस्ट से ब्लैडर के उपर नाभि के आस पास की जगह पर लेप करे. इससे आपका रुका हुआ पेशाब खुलकर आयगा.

5. पेट के निचले हिस्से पर हलके गर्म सरसों के तेल से 20 से 30 मिनटों तक मसाज़ करे. उसके बाद गर्म पानी में कुछ समय के लिए बैठे.

6. खरबूज तरबूज और ककड़ी जैसे फल खाए जिनमे पानी की मात्रा काफी होती है इससे पेशाब ज्यादा बनेगा जो यूरिन इन्फेक्शन और पेशाब का रंग पीला होने का एक प्रभावी इलाज है.

7. 8-10 तुलसी की पत्तिया एक एक कप पानी में डालकर उबाले और थोडा ठंडा होने पर उसमे 1 चमच्च शहद मिलाये. दिन में 2 बार इस घरेलू नुस्खे का सेवन करने से जल्द ही पेशाब में रुकावट से छुटकारा मिल जायगा.

8. पेशाब में खून आने का इलाज के लिए सुखी अदरक असरदार उपाय है. सुखी अदरक जिसे सोंठ भी कहते है उससे पीस कर चूरन  बना ले. एक गिलास दूध में ये चूरन मिलाये, अब इसमें थोड़े मिश्री भी मिला ले. इस मिश्रण का सुबह शाम दिन में 2 बार सेवन करे.

9. अगर आपको पेशाब करते हुए दर्द होता है तो एक गिलास दूध में अदरक का चूर्ण और मिश्री मिलकर पिए.

10. अनानास और नारियल का जूस पीने से पेशाब की रुकावट या पेशाब न आने की समस्या दूर हो जाती है.

3 Comments

  1. L.R Dinker 9451316953
  2. dinesh Kumar

Leave a Reply

error: Content is protected !!