दांतों में पायरिया के लक्षण कारण और 7 सफल घरेलू उपचार

पायरिया के लक्षण और घरेलु इलाज : आपके मसूडो में सुजन है और दांतों से खून भी आ रहा है तो आपको दांतों का रोग पायरिया हो सकता हैं। ये दांतों की सबसे ज्यादा होने वाली बीमारी है। दांतों की अच्छे से सफाई ना करना इसके होने की प्रमुख वजह होता हैं। जिससे दानो और मसूडो में बैक्टीरिया जमा होने लगते हैं जिससे आगे चलकर पायरिया बनता हैं। इस बीमारी को इंग्लिश भाषा में Pyorrhoea (Periodontitis) के नाम से जाना जाता हैं। दांतों में पीलापन, मुह से बदबू आना, ब्रश करते समय या कुछ भी खाते पीते वक्त खून निकलना इसके कुछ आम लक्षणों में से हैं। अगर आप भी दांतों और मुह की सफाई में लापरवाही बरतते है या रोजाना दांत साफ़ नहीं करते तो पायरिया और दांत ख़राब होने की काफी सम्भावना हैं। आज आपको पायरिया के कारण लक्षण और घरेलू उपचार: Payriya Home Remedies Treatment in Hindi बताएँगे।

जब पायरिया होता हैं तो इसका सबसे अधिक असर आपके दांतों की जड़ो पर पड़ता हैं। और मसूडो और जड़ो में पस का निर्माण होना शुरू हो जाता हैं। यहा तक की जब ये बीमारी बढ़ जाए तो कुछ लोगो को दांतों से भी हाथ धोना पढ़ जाता हैं। इसलिए जल्द ही पायरिया से छुटकारा पाना जरुरी होता हैं। वैसे तो पायरिया होने की कोई एक खास उम्र नहीं होती पर अधिकतर ये रोग व्यस्क को ज्यादा होता हैं बच्चो के मुकाबले में। ये देखा गया हैं दुनिया में लगभग 50% व्यस्को को पायरिया कभी ना कभी हुआ होता हैं।

पायरिया के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार

दांतों में पायरिया होने के कारण

पायरिया होने का मुख्य कारण दांतों और मुह की सही से सफाई ना करना होता हैं। हम जब कुछ भी खाते है तो उसके छोटे टुकड़े हमारे दांतों में फंसे रह जाते हैं। और जब हम डेली ब्रश या दातुन नहीं करते तो वो खाने के टुकड़े वही फंसे रह जाते हैं। दांतों में मौजूद बैक्टीरिया उन खानों के बचे टुकडो को एक एसिड में बदल देता हैं। अगर वो खाना मीठा हो तो एसिड और अधिक बनता हैं। ये एसिड हमारे दांतों और मसूडो में सडन पैदा कर देता हैं जो आगे चलकर पायरिया बीमारी को जन्म देता हैं। इस रोग के पीछे कुछ और कारण निचे दिए गए हैं।

  • रोजाना दांतों की सफाई (ब्रश या दातुन) ना करना।
  • सिगरेट या बीडी पीने वालो को ये बीमारी ज्यादा होती हैं।
  • शुगर के मरीज को पायरिया होने की सम्भावना अधिक रहती हैं।
  • प्रेगनेंसी में हार्मोनल बदलाव
  • मीठा ज्यादा खाना

पायरिया होने के लक्षण : Pyorrhoea Signs in Hindi

  • कुछ खाते हुए या ब्रश करते हुए मसूडो से खून निकलना
  • मसूडो में सूजन होना
  • दांतों का ढीला हो जाना
  • मुंह से काफी दुर्गन्ध आना
  • मसूडो में पस बन जाना
  • लीवर और पाचन तन्त्र में इन्फेक्शन बन जाना। ये तब होता हैं जब पायरिया काफी लम्बे समय तक बना रहे।
  • मुंह में छाले होना

पढ़े : मुह के छाले के 10 घरेलु इलाज

पायरिया का इलाज के घरेलु नुस्खे

Payriya Home Remedies in Hindi

1. नीम पायरिया का मंजन : पायरिया रोग के उपचार में नीम एक अच्छा घरेलु नुस्खा हैं। नीम के कुछ ताज़ा पत्ते ले और उन्हें अच्छी तरह से धोकर सुखा ले। उन सुखो पत्तियों को जलाये और उनकी राख बना ले। इस नीम के पत्तो की राख में थोडा सेंध नमक मिलाए। अब ये आपका देसी हर्बल दन्त मंजन तैयार हो गया हैं। इससे सुबह शाम अच्छे से अपने दांतों की सफाई करे। कुछ ही दिनों में आपको पायरिया की बीमारी से छुटकारा मिल जायगा।

2. आयल पुल्लिंग : आयुर्वेद में आयल पुल्लिंग को पायरिया का रामबाण इलाज बताया गया हैं। ये करने से मुंह और दांतों में बैक्टीरिया का नाश होता हैं जिससे इस रोग से निजात मिल जाती हैं। 2014 में भारत में की गयी एक स्टडी से भी ये निकलकर आया हैं आयल पुल्लिंग ना सिर्फ दांतों की बीमारी में असरदार है इससे मसुडो को भी मजबूती मिलती हैं।

  • सुबह के समय ब्रश करने से पहले ये आपको करना हैं। मुंह में नारियल या सरसों का तेल भरे और उसे 15-20 मिनट तक मुंह में ही रखे। फिर उस तेल को बाहर थूक दे। इसके बाद हल्के गर्म पानी से कुल्ला कर ले। ध्यान रहे ना तो तेल से गरारे करे और ना ही तेल निगले।

जाने : मुँह की बदबू रोकने के घरेलू नुस्खे

3. काली मिर्च : थोड़ी काली मिर्च लेकर उसे बारीक़ पीस ले। अब इस पीसी हुई मिर्च में नमक मिलकर उसे दांतों पर अच्छे से लगाये। कुछ मिनटों बाद कुल्ला कर ले। इसके साथ में जब भी ब्रश करे, उसके बाद सरसों के तेल में नमक मिलकर उसे मसूडो पर लगाये और 5 मिनट बाद कुल्ला करले।

4. अमरुद : अमरुद में विटामिन c होता है जो दांतों के लिए एक टॉनिक का काम करता हैं। दांतों में जमा गन्दगी और बैक्टीरिया ख़त्म करने में भी अमरुद काफी फायदेमंद हिता हैं। पायरिया में खून निकलना रोकने में भी अमरुद काफी फायदेमंद होता हैं। अमरुद anti inflammatory होता हैं जो मसूडो की सुजन और दांत दर्द में भी रहत पहुचाता हैं।

  • कुछ अमरुद की पत्तिया सही से धोकर उन्हें कुछ समय के लिए चबाए और फिर उसे थूक दे। नियमित रूप ये ये उपाय करने से ना तो मसुडो में पस बनेगी और साथ में खून निकलना भी बंद हो जायगा।

5. प्याज : प्याज़ को गर्म करे और उसे दांतों के निचे दबाकर 15-20 मिनट के लिए मुंह बंद कर ले। ऐसा करने के बाद आपके मुंह में एक लार बन जायगी इस लार को मुह में हर जगह फैला ले। ये लार में कई ऐसे गुण होते हैं जो पायरिया जड़ से खत्म करने में मदद करते हैं। ये उपाय आपको दिन में 3-4 बार करना है।

6. हल्दी से बना टूथपेस्ट : हल्दी दांतों और मसूडो के बैक्टीरिया मारकर दर्द और सूजन में आराम पहुचाने का काम करती हैं। हल्दी स्वभाव में एंटीबैक्टीरियल होती हैं जिससे हल्दी पायरिया के इलाज में एक कारगर होम रेमेडी बन जाती हैं। हल्दी पाउडर में थोडा पानी मिलाकर एक पेस्ट बनाए और उससे सुबह शाम दिन में 2 बार पेस्ट के रूप में ब्रश करे।

7. तुलसी : पायरिया में मसूडो से खून निकलना एक प्रमुख लक्षण होता हैं। जिसके इलाज में तुलसी कमाल काम करती हैं। दांत में कीड़ा लगना और दांतों की अन्य बीमारियों में भी तुलसी फायदेमंद होती हैं। तुलसी की पत्तियों सुखाने के बाद उन्हें पीस पॉवडरनुमा बनाये और उसमे इतना सरसो का तेल मिलाए  जिससे एक गाढ़ा पेस्ट बन जाए। इस पेस्ट को सुबह शाम ऊँगली या मुलायम ब्रश से दांतों पर मले।

Leave a Reply

error: Content is protected !!