पाचन शक्ति बढ़ाने और पाचन तंत्र ठीक करने के 7 घरेलू उपाय व दवा

पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय: पाचन तंत्र हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा है. हम जो भी खाना खाते है वो हमारे पाचन तंत्र के द्वारा पचाया जाता है और हमारे शरीर के लिए आवश्यक पौषक तत्व ले लेता है और फालतू के पदार्थ बहार निकल देता है. जिससे हमे कोई भी काम करने के लिए उर्जा मिलती है और हम सेहतमंद बने रहते है. शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए पाचन क्रिया और पाचन तंत्र ठीक रहना जरुरी है. अगर ये बिगड़ जाए तो पेट में गैस, कब्ज़, दस्त एसिडिटी, कमजोरी और दुसरे कई समस्याओ का सामना कर पड़ सकता है. हमने अपने पिछले लेख ‘मोटा होने के उपाय‘ में बताया था दुबला पतला शरीर होने का एक प्रमुख कारन पाचन शक्ति कमज़ोर होना है जिससे खाना सही से हज़म नहीं हो होता और खाया पिया लगता नहीं. पाचन क्रिया ठीक न होने के लिए हमारा खानपान या पाचन तंत्र के रोग जिम्मेदार हो सकते है जिनके बारे में हम आगे बताएँगे. चलिए जानते है कमज़ोर पाचन तंत्र ठीक करने और पाचन शक्ति बढ़ाने उपाय और दवाए.

पाचन शक्ति बढ़ाने और पाचन तंत्र ठीक करने के घरेलू उपाय योग व दवा

पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय

पाचन तंत्र (पाचन शक्ति) कमज़ोर होने के कारण

  • समय पर भोजन न करना
  • खाने में पौषक तत्वों की कमी
  • नींद पूरी ना लेना
  • एक्सरसाइज ना करना
  • अधिक धूम्रपान और शराब का सेवन
  • पाचन तंत्र के रोग
  • ज्यादा टेंशन में रहना
  • पानी कम पीना
  • साफ़ सफाई का ध्यान न रखना

 

पाचन क्रिया ठीक ना (कमज़ोर) होने के लक्षण

  1. खाने के बाद थकान होना
  2. पेट में गैस कब्ज़ और एसिडिटी होना
  3. मुह से दुर्गन्ध आना
  4. नाख़ून कमज़ोर हो जाना
  5. गठिया रोग होना
  6. ज्यादा पसीने की बदबू होना
  7. पेट में फुलाव रहना
  8. भूख कम लगना

 

पाचन शक्ति (क्रिया) बढ़ाने के घरेलू उपाय

Pachan Shakti ko kaise badhaye in Hindi

1. चबाकर खाना खाए

खाना पचाने की प्रक्रिया हमारे मुह में ही शुरू हो जाती है. पाचन क्रिया ठीक करने के लिए सबसे पहले जरुरी है खाना अच्छी तरह चबा चबाकर और धीरे खाया जाए. इससे पाचन तंत्र का आधा काम हम अपने मुह से ही कर देते है जिससे आगे चलकर खाना हज़म करने में आसानी रहती है.

 

2. दबा के पानी पिए

जिनको पाचन तंत्र संबधित रोग समस्या होती है उनमे सूखापन काफी ज्यादा होता है. इसलिए उन्हें पानी ज्यादा से ज्यादा पीना चहिये. जो पाचन शक्ति बढ़ाने में काफी फायदेमंद है. इसके अलावा निम्बू रस, नारियल पानी, फलो का जूस और अन्य तरल पदार्थ का सेवन ज्यादा करे.

 

3. पुदीन की चाय

पुदीना हमारे पाचन तंत्र और लीवर के लिए लाभकारी होता है. ये एंटीस्पास्मोडिक होता है जो पेट में गैस, जलन, उल्टिया और सुजन होने से रोकता है. एक कप पानी में एक चमच्च सूखे पुदीने की डाले और उसे 10 मिनट  गरम करे. गर्म होते वक्त उसे ढका रहने दे. थोडा ठंडा करके ये पुदीने की चाय पी ले . ये घरेलू नुस्खा रोजाना एक बार करे.

 

4. हींग (Asafetida)

पाचन शक्ति में सुधार के लिए हींग एक रामबाण तरीका है. बदहजमी की वजह से कई बार पेट दर्द हो जाता है. ऐसे पेट में दर्द के उपचार के लिए भी हींग काफी प्रभावी है.

भोजन के बाद एक गिलास गुनगुने गर्म पानी में एक चुटकी हिंग पाउडर की मिलाये और पी ले. इसके साथ खाना बनाते समय भी हींग जरुर इस्तेमाल करे.

5. अदरक चाय 

आयुर्वेद के अनुसार अदरक को पाचन विकारो से छुटकारा पाने के लिए दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है. अदरक हमारे पेट में आंतो को शांत करने में मदद करता है जिससे पाचन क्रिया सुचारू रूप से चलने में सहायता मिलती है.

अदरक की चाय बनानी के लिए एक चमच्च बारीक़ कटे हुए अदरक को एक कप पानी में डालकर उबाले. और थोडा ठंडा होने के बाद धीरे धीरे पिए.

 

पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए कोई भी घरेलू उपाय करने से पहले उसकी पूरी जानकारी ले. अगर आपको पहले से कोई रोग है तो पहले डॉक्टर की सलाह जरुर ले.

 

पाचन शक्ति बढ़ाने की दवा और योग इन हिंदी

एक्सरसाइज की कमी पाचन क्रिया कमज़ोर होने का एक बड़ा कारण है. हलकी फुल्का व्यायाम को अपने दिनचर्या का हिस्सा बनाये. पाचन शक्ति बढ़ाने के लिया योग करना काफी लाभकारी है. बाबा रामदेव का पश्मीमोतनसना और नौकासन योगा किसी योगगुरु की देख रेख में करे.

पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए दवा के रूप में हल्दी बहुत असरदार है. हल्दी में Curcumin होता है जो हमारे पाचन तंत्र के अहम भाग गाल ब्लैडर (gallbladder) से रस निकलवाता है जो खाना पचाने के लिए जरुरी है. पाचन तंत्र की बीमारियों से बचने के लिए आधा चमच्च हल्दी पाउडर एक गिलास पानी में डालकर डेली पिए.

 

प्यारे दोस्तों हमारी ये पोस्ट पाचन शक्ति बढ़ाने और पाचन तंत्र ठीक करने के घरेलू उपाय? आपको कैसा लगा और अगर आपके कोई सवाल है तो जरुर बताये.

2 Comments

  1. Shahzad siddiqui
  2. ankur

Leave a Reply

error: Content is protected !!