सफेद पानी (लिकोरिया) का रामबाण इलाज के 10 घरेलू नुस्खे

Safed Pani ka ilaj in Hindi : महिलाओ की योनी से सफेद पानी आना एक आम समस्या बनती जा रही है। ये पानी चिपचिपा और बदबूदार हो सकता है। हारमोंस में होने वाले बदलाव के कारण ऐसा होता है। कम मात्रा में बदबू रहित सफेद पानी आना कोई घबराने वाली बात नहीं होती पर अगर ये नियमित रूप से ज्यादा मात्रा में आता रहे और उसके साथ खुजली, बेचैनी या असहज महसूस होना शुरू कर दे तो ये एक बीमारी का रूप ले लेती है। जिसे लिकोरिया या श्वेत प्रदर के नाम से जाना जाता है। मासिक धर्म यानि पीरियड्स और गर्भावस्था में सफेद पानी आना समान्य होता है। लिकोरिया के ट्रीटमेंट के लिए कई तरह के दवा उपलब्ध है पर हम सफेद पानी का इलाज घरेलू नुस्खे से भी कर सकते है इनके बारे में आगे इस लेख में जानेंगे।

मेडिकल भाषा में सफेद पानी को Leuchorroea के नाम से जाना जाता है। अगर इस पानी का रंग पीला या हरा होता है तो ये होनी संक्रमन का संकेत हो सकता है। जो आगे चलकर कई और बीमारियों को जन्म दे सकता है।

 

लिकोरिया होने के लक्षण : Leucorrhoea Symptoms in Hindi

  • पेट के निचले हिस्से और टांगो में दर्द रहना
  • बार बार पेशाब आना
  • योनी के आस पास खुजली होना
  • सम्भोग के दौरान दर्द महसूस होना
  • थकावट ज्यादा रहना
  • कब्ज़ होना

सफेद पानी का इलाज Likoria Safed Pani ka ilaj in Hindi

सफेद पानी (लिकोरिया) का इलाज के घरेलू नुस्खे

Likoria Safed Pani ka ilaj in Hindi

लिकोरिया का उपचार के लिए निचे कुछ होम रेमेडी बताई गयी है जिन्हें आप अपने घर में ही तैयार करके इस समस्या से निजात पा सकते है। प्रेगनेंसी में ऐसा कोई भी नुस्खा करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरुर ले।

1. क्रैनबेरी

क्रैनबेरी को अपने जीवाणुरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से जाना जाता है जो कई तरह के इन्फेक्शन को समाप्त करने में मदद करता है। लिकोरिया यानी सफेद पानी का इलाज के लिए क्रैनबेरी एक रामबाण घरेलू नुस्खा है। क्रैनबेरी यानि की भीतरी दीवारों पर बैक्टीरिया को बनने से रोकता है जिससे लिकोरिया से छुटकारा पाना आसान हो जाता है।

  • एक गिलास क्रैनबेरी जूस दिन में 2 से 3 बार पिए , इसके अलावा आप सूखी क्रैनबेरी भी खा सकते है।

2. अंजीर (Fig)

हम सब जानते है आयुर्वेद में हर बीमारी का इलाज है और ऐसे ही सफेद पानी के लिए आयुर्वेदिक दवा के रूप में अंजीर का सेवन किया जाता है। अंजीर Body Detox के रूप में काम करता है और इसके सेवन से हानिकारक विषेले पदार्थो को शरीर से बाहर निकलता है जिससे सफेद पानी के उपचार में भी मदद मिलती है।

  • रात को सोने से पहले एक गिलास पानी में 2-3 सूखी अंजीर भिगोकर रख दे। अगले दिन सुबह उन भीगी हुई अंजीरो को पानी में मिलाये और खाली पेट पिए।

3. मेथी के बीज से सफेद पानी का इलाज

मेथी के बीजो सफेद पानी की समस्या से छुटकारा पाने का एक असरदार घरेलू उपाय है। ये स्त्रियों की योनि में ph का उचित स्तर बनाए रखने के साथ एस्ट्रोजेन के बेहतर लेवल बनाने में भी मदद करता है। मेथी बीजो का एक और फायदा ये है कि ये एक रोग प्रतिरोधक शक्ति बढाने का भी काम करते है।

  • एक चमच्च मेथी बीज पानी में भिओ कर रात भर छोड दे। सुबह पानी अलग करके उसमे आधा चमच्च शहद के मिलाकर बिना कुछ खाए पिए पीले।

4. केला खाए

लिकोरिया का घरेलू उपचार के लिए केला एक आसान उपाय है। पाचन सम्बधित समस्या सफेद पानी को जन्म देने का एक कारण होती है और केला खाने से पाचन क्रिया बेहतर होती है। इसलिए भी केला खाने से श्वेत प्रदर से बचा जा सकता है।

  • संक्रमित सफेद पानी को कण्ट्रोल करने के लिए रोजाना 1-2 केला खाए।

5. भिन्डी

भिन्डी की सब्जी तो हमारे घरो में बनती रहती है। पर आप ये नहीं जानते होंगे की भिन्डी को लिकोरिया के इलाज के लिए एक रामबाण घरेलू नुस्खा माना जाता है।

  • लगभग 100 ग्राम भिन्डी ले और उन्हें छोटे टुकडो में काट ले। अब इन कटे हुए भिन्डी के टुकडो को आधा लीटर पानी में डालकर तब तक उबाले जब तक पानी आधा ना रह जाए। अब इसे ठंडा करे और इसे तीन हिस्सों में बांटे। इसका एक हिस्से में थोडा शहद डालकर सेवन करे। ये घरेलू नुस्खा दिन में 3 बार करे।

6. अनार

अनार के सेवन से भी इस रोग को ख़त्म करने में मदद मिलती है। अनार में कई ऐसे औषधीय गुण होते है जो कोई भी घाव भरने में मदद करते है। अनार के दानो के साथ इसके पत्ते और छाल भी कई रोगों के उपचार में इस्तेमाल की जाती है।

  1. इस घरेलू नुखे को आप 2 तरीको से ली सकते है। पहला आसान है जिसमे आपको ताज़ा आनर का एक गिलास जूस डेली पीना है।
  2. दूसरा 30 अनार की पत्तिया और 10 काली मिर्च लेकर अच्छे से पीस ले। अब इस पेस्ट को एक गिलास पानी में मिलाए और पिए। ये आप दिन में 2 बार 3 सप्ताह तक करे।

7. अमरुद की पतियों का पानी

अमरुद की कुछ ताज़ा पत्तिया एक लीटर पानी में डालकर तब तक उबाले जब तक पानी आधा रह जाए। पानी ठंडा होने पर इस पानी को पिए। सफेद पानी की समस्या से निजात पाने के लिए दिन में 2 बार ये नुस्खा करे।

गर्भावस्था में सफेद पानी आना : प्रेगनेंसी में वाइट डिस्चार्ज इन हिंदी

प्रेगनेंसी में गर्भवती महिला के शरीर के कई तरह के हारमोंस बदलाव आते है। इस दौरान सफेद पानी आना एक नार्मल प्रक्रिया है। बार हमें इस चीज का ख्याल रखना है की ये सफेद पानी संक्रमित तो नहीं है। अगर ये पानी रंग में सफेद या पारदर्शी ना हो , हरा या पीला दिखे और साथ में बदबू भी आये तो संक्रमण के संकेत हो सकते है। अगर ऐसा कुछ दिखे तो तुरंत डॉक्टर के पास जाकर जांच कराए और उनकी सलाह के बाद ही कोई दवा या घरेलू नुस्खा करे।

लिकोरिया सफेद पानी से बचने के घरेलू उपाय

  • साफ़ सुथरे अंतर्वस्त्र ही पहले और जब इस रोग से पीड़ित हो तो दिन में 2-3 बार इन्हें बदले।
  • कॉफी , शराब और ऑयली खाने परहेज़ करे।
  • रोजाना योनि और इसके आस पास के हिस्से को अच्छे से धोए।
  • Vaginal White Discharge से बचने के लिए एक गिलास पानी में आधा कप सेब का सिरका डालकर उससे योनि के आस पास हिस्सा धोए।
  • ज्यादा से ज्यादा पानी पिए। जितने तरल पदार्थ हम लेंगे उतने ही बैक्टीरिया पेशाब के साथ बहर जायेंगे।

मित्रो, हमारे इस लेख सफेद पानी का  इलाज : Safed Pani ka ilaj in Hindi? से संबधित सवाल पीछे कमेंट में पूछ सकते है। हमारे किसी पाठक के likoria को लेकर कोई सुझाव है तो भी जरूर लिखे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!