एचआईवी एड्स के शुरूआती लक्षण : HIV Aids Symptoms in Hindi

HIV Aids ke Lakshan in Hindi: एड्स बीमारी का नाम सुनते ही घबराहट होने लगती है। क्योंकि ये एक जानलेवा घातक बीमारी है जिससे भारत में हजारो लोग पीड़ित है। आज के आधुनिक युग जिसमे साइंस इतनी आगे बढ़ चुकी है फिर भी हमारे बीच अभी भी ये सवाल बना हुआ है की एड्स का इलाज हो सकता है या नहीं? पर उससे पहले जो एक सवाल जानना जरुरी है वो है एड्स कैसे होता है और इसका पता कैसे चलता है। एड्स में रोगी की इम्यून सिस्टम पर असर पड़ता है उनकी रोग प्रतिरोधक शक्ति काफी कम हो जाती है। आसान शब्दों में बताए तो उन्ही कोई भी बीमारी बड़ी जल्दी हो जाती है और एक बार कोई रोग हो गया तो वो जल्दी से ठीक नहीं होता। HIV Aids के ट्रीटमेंट में सबसे बड़े समस्या ये आती है की जब तक हमें HIV Test के द्वारा इसके होने का पता चलता है तब तक काफी देर हो चुकी होती है। इसलिए आज हम पुरुषो और महिलाओ में एचआईवी एड्स के समान्य लक्षण : HIV Aids Symptoms Hindi me के बारे में बताएँगे।

एचआईवी एड्स के लक्षण HIV Aids Lakshan Symptoms in Hindi

एचआईवी एड्स के लक्षण

ऐड्स कैसे होता है : Aids kaise hota hai in Hindi

Aids का पूरा नाम acquired immunodeficiency syndrome है। शुरुआत में HIV वायरस से संकर्मित होते है अगर उस वायरस का प्रभाव बढ़ता जायगा और जब immune system बुरी तरह शतिग्रस्त हो जाए तो उस एचआईवी के अंतिम चरण (final Stage) को एड्स कहते है।

कुछ विशेष माध्यम से जब हम किसी HIV infected के संपर्क में आते है तब हमें एड्स हो सकता है। खून ,वीर्य, माँ का दूध या सम्भोग के दौरान योनी से निकले तरल से एचआईवी वायरस एक से दुसरे के शरीर में आ जाते है जिससे आगे चलकर एड्स  हो जाता है।

  • बिना कोई प्रोटेक्शन (कंडोम) इस्तेमाल किये पहले से एड्स से ग्रसित पुरुष या महिला के साथ सम्भोग करने से एड्स होता है।
  • पहले से एचआईवी इन्फेक्टेड पर इस्तेमाल की कई सुई या सिरिंग फिर से किसी और पर इस्तेमाल करना।
  • माँ से बच्चे को जन्म से पहले या जन्म के समय। इसके अलावा अपना दूध पिलानी से भी hiv बच्चे को हो सकता है।
  • Hiv Infected Blood (खून) डायरेक्ट किसी को चढाने से भी ये रोग हो सकता है।

 

पुरुषो महिलाओ में एचआईवी एड्स के सामान्य लक्षण

HIV Aids ke Lakshan (Symptoms) in Hindi

Aids एचआईवी नाम के वायरस से होने वाले इन्फेक्शन से होता है। इसलिए इसे एचआईवी एड्स भी कहते है। विश्व में लगभग 7 लाख पुरुषो और महिलाओ को ऐड्स हुआ है जिनमे आधे से अधिक लोगो की मौत हो चुकी है। इंडिया में ही 30 लाख से अधिक एड्स के मरीज है जिनमे लगभग 60% पुरुष और 40% महिलाए है। हालाँकि 2001 के बाद से भारत में एचआईवी फैलने पर काफी हद तक रोक लगायी है। ऐड्स में वायरस हमारे cd4 नाम की कैशिकाओ पर प्रभाव डालता है जो किसी भी अन्य बीमारी से लड़ने के लिए जरुरी होते है। और दुसरे वायरस को तो हमारा प्रतिरक्षा प्रणाली ख़त्म कर सकता है पर hiv वायरस को नहीं। निचे दिए लक्षणों को जानकार हम शुरुआत में ही इस जानलेवा बीमारी का पता लगा सकते है।

 

पुरुषों में एचआईवी के सामान्य लक्षण : HIV symptoms in men in Hindi

1. First Stage Symptoms

HIV कितने दिन में होता है इसके बारे में तो पक्के तौर पर कहा नहीं जा सकता। लगभग 80% पुरुषो में शुरुआत के 15-30 दिन में फ्लू के जैसे लक्षण दिखाई देते है। जिसे एक्यूट एचआईवी इन्फेक्शन के रूप में जाना जाता है। ये एड्स की पहली स्टेज है जो तब तक चलती है जब तक हमारी बॉडी इस वायरस से लड़ने के लिए एंटीबाडी ना बना ले।

एड्स के शुरूआती आम लक्षण:

 

कुछ और लक्षण जो कम दिखाई देते है:

  • थकान और कमजोरी दिखाई देना
  • शरीर की मांसपेशियों में दर्द रहना
  • जी मचलना और उलटिया आना
  • मुंह में छाले होना
  • जोड़ो में दर्द रहना
  • रात को सोते समय पसीना आना

ये एचआईवी एड्स के प्रारंभिक लक्षण 1 से 2 हफ्ते में दिखाई देते है। अगर आपको संदेह है आप संक्रमित हो सकते है और उसके साथ ये सिम्पटम्स भी है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाए और HIV  Test कराये।

 

2. Second Stage:

शुरूआती लक्षण के बाद HIV का दूसरा चरण शुरू होता है जिसे Asymptomatic period कहते है। इस स्टेज में ज्यादा लक्षण महसूस नहीं होते। इसके दौरान वायरस हामरे immune system को कमज़ोर बनाता रहता है। इसमें आप दिखने में बिलकुल ठीक दिखाई देते है और लगता नहीं कोई बड़ी बीमारी है। और इस स्टेज में आने पर आप से किसी दुसरे को भी एड्स हो सकता है।

 

3. Third Stage (AIDS):

इस स्टेज के आने में कुछ महीने या कई साल भी लग सकते है। इसमें एचआईवी हमारे इम्यून सिस्टम को तोड़ देता है। जो आगे चलकर acquired immunodeficiency syndrome यानी Aids का रूप ले लेता है। इस समय में हमारा immune system बुरी तरह प्रभावित हो जाता है जिससे काफी जल्दी इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है। इसे अवसरवादी इन्फेक्शन भी कहते है इसके कुछ लक्षण निचे दिए गए है।

  • तेज़ी से वजन कम हो जाना
  • लगातार दस्त लगे रहना
  • खांसी और सांस लेने में दिक्कत आना
  • ठण्ड लगना और बुखार आना
  • यादाश्त चले जाना
  • जी मचलाना और लगातार उल्टिय आना

 

महिलाओ में एचआईवी लक्षण : HIV symptoms in Women in Hindi

पुरुषो और महिला दोनों HIV से गर्षित हो सकते है। महिलाओ में एचआईवी के लक्षण  पुरुषो से अलग हो सकते है और कुछ ऐसे लक्षण है जो दोनों में समान दिखाई देते है। उपर बताये गए ज्यादातर लक्षण औरतो में भी दीखते है। कुछ ऐसे औरतो में एड्स के लक्षण जो उन्ही से संबधित है।

  • बुखार, सिर दर्द और और ऊर्जा की कमी महसूस महिलाओ में एचआईवी के लक्षणों में से है।
  • जिन्हे HIV होता है उनके पीरियड्स में काफी अनियमित्ता दिखाई देती है। कभी मासिक धर्म काम होता है काफी जायदा और कई बार होते ही नहीं।
  • महिलाओ में बैक्टीरियल और यीस्ट इन्फेक्शन ज्यादा होने लगता है और होने पर जल्दी ठीक नहीं होता।
  • शरीर में कई जगह त्वचा पर दाने और घाव हो जाना। इसके अलावा स्किन के दुसरे रोग जैसे की दाद हो जाना।
  • हलके बुखार के साथ रात के समय पसीने आना भी एड्स के सामान्य लक्षणों में आते है।

जाने: बाबा रामदेव आयुर्वेदिक उपचार की पतंजलि दवाइयाँ

 

मित्रो हमारे इस लेख एचआईवी एड्स के लक्षण : HIV Aids Symptoms in Hindi? से संबधित आपके कोई सवाल या सुझाव है तो निचे लिखे। हम आशा करते है अगर आपको कोई HIV ke Lakshan दिखे तो आपका टेस्ट नेगेटिव ही निकले।

loading...

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!