गले और छाती में जमा कफ (बलगम) का इलाज के 10 सफल उपाय

Balgam ka ilaj in Hindi : सर्दी जुखाम होने पर गले या छाती में कफ यानी बलगम जमा होना आम बात होता हैं। पर अगर समय रहते बलगम का इलाज नहीं किया जाए तो बाद में इसके कई नुकसान हो सकते हैं। कफ दिखने में चिपचिपा गाढ़ा तरल पदार्थ होता हैं जिसमे कई प्रकार के बैक्टीरिया, वायरस होते हैं जो इन्फेक्शन होने पर बनते हैं। सरल भाषा में बोला जाए तो बलगम बनना किसी न किसी बीमारी होने का संकेत होता हैं। खांसी होना, नाक बहना, सांस लेने में रुकावट और बार बार गला साफ़ करने की जरुरत पड़ना कुछ ऐसे संकेत है जिनसे हमें ज्यादा बलगम जमा होने का पता चलता हैं। महंगी अंग्रेजी दवाओ के बजाय कुछ नेचुरल तरीके और घरेलू उपचार से भी बलगम से छुटकारा पाया जा सकता हैं। चलिए आज आपको गले छाती या नाक में जमा बलगम का इलाज और कफ निकालने के घरेलू नुस्खे : Chest se cough kaise nikale बताते हैं।

गले छाती में जमा कफ निकालने के उपाय Balgam ka ilaj in Hindi

छाती या गले में कफ होने के आम कारण

  • सर्दी या जुकाम होने से बलगम बन जाती हैं।
  • किसी तरह की एलर्जी या इन्फेक्शन होना।
  • लम्बे समय तक खांसी होना
  • प्रेगनेंसी में खांसी और बलगम होना आम हैं
  • Bronchitis, Pneumonia या Tonsillitis बीमारी होना।

 

बलगम जमा होने के लक्षण : Phlegm Symptoms in Hindi

निचे दिए गए कुछ आम लक्षणों के आधार पर हम जान सकते हैं की आपके गले या छाती में बलगम जमा हैं।

  • खांसते समय आवाज़ आना / बलगम वाली खांसी होना।
  • नाक बहना
  • सांस लेते समय भी घर-घर की आवाज़े आना।
  • सांस लेने में तकलीफ होना।
  • नाक बंद रहना
  • गले में खराश और दर्द होना।
  • ज्यादा बलगम होने से बुखार भी हो सकता हैं।

जाने : गले में दर्द और इन्फेक्शन का इलाज

गले छाती में जमा कफ (बलगम) के इलाज के नुस्खे

Balgam ka ilaj aur Cough nikalne ke Upay

1. पुदीने का तेल

पुरानी जमा बलगम को निकालने में पुदीने का तेल चमत्कारी घरेलू उपाय हैं। पुदीने में मेंथोल होता हैं जो अपने एंटीस्पास्मोडिक गुणों के लिए मशहूर हैं। पुदीने से बनने वाली भाप फेफड़ो तक पहुचकर वह मौजूद बलगम को पिगलाने और वहा की मांसपेशियों को रिलैक्स करने का काम करती हैं। पुदीना जीवाणुरोधी भी होता है जिससे ये इन्फेक्शन समाप्त करने का भी काम करता हैं।

  • एक बड़ा कटोरा गर्म पानी में 7-8 बुँदे पुदीने की तेल की डाले। पानी इतना उबला हो की भाप निकल रही हो। अब कटोरे पर झुक कर  अपना सिर तौलिये से ढककर भाप ले। ये आप दिन में 2 बार करे।

2. नमक के पानी से गरारे करे

जब भी गला ख़राब हो या कफ जमा हो तो हमारी दादी माँ का एक घरेलू नुस्खा जो हमारे दिमाग में आता है वो है नमक के पानी से गरारे करना। ठण्ड और बुखार जो आगे चलकर बलगम बनाने का कम करते हैं , इनके होने का प्रमुख कारण संक्रमण होना होता हैं, जिसे खत्म करने में भी नमक का पानी फायदेमंद होता हैं।

  • एक गिलास गर्म पानी में एक चमच्च नमक का पानी मिलाए। ध्यान रहे पानी मध्यम गर्म हो, अब उस पानी से गरारे करे। दिन में 3 बार नमक के पानी से गरारे करे।

पढ़े : सर्दी जुकाम का 10 घरेलू उपचार

3. अदरक

अदरक में polyphenols और flavonoids भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो स्वभाव में एंटीबायोटिक और एंटीवायरल होते हैं। जो गले या छाती में हुए इन्फेक्शन जिससे रुकावट बनती हैं ऐसे इन्फेक्शन से लड़ने में मदद करते हैं। नियमित अदरक का सेवन करने से फेफेड़ो की मसल्स में आराम पहुंचाने का काम करता हैं।

  • एक गिलास पानी में आधा इंच अदरक का टुकड़ा डालकर अच्छी तरह उबाले। थोड़ा ठंडा होने पर उसमे स्वादुनसार शहद मिलाये और हलकी गर्म ये चाय पिए। दिन में 3-4 बार अदरक और शहद से बनी ये चाय पीने से आपको जल्द बलगम में राहत महसूस होगी।

4. हल्दी और सेब का सिरका

हल्दी में किसी भी घाव को भरने के गुण होते हैं। हल्दी एंटीसेप्टिक भी होता हैं जिससे किसी भी तरह के इन्फेक्शन को ठीक करने में भी हल्दी एक कारगर उपाय बन जाता हैं। छाती जाम होने पर हल्दी के इस घरेलू नुस्खे के सेवन से तुरंत आराम मिल जाता हैं। सेब का सिरका और शहद हल्दी के साथ मिलकर इसका असर और बढ़ा देते हैं।

  • एक गिलास गर्म पानी में एक चमच्च सेब का सिरका और एक चमच्च हल्दी पाउडर अच्छी तरह मिलाए। थोडा ठंडा होने पर इसमें एक चमच्च शहद भी मिला ले और इसे पीले। विकल्प के तौर पर आप इससे गरारे भी कर सकते हैं।

5. प्याज़ और शहद

प्याज़ में कई प्रकार के पौषक तत्वों के साथ में Quercetin नाम  एक यौगिक होता हैं जो छाती और गले में बलगम (कफ) निकालने में मदद करता हैं। साँसों की समस्या और एलर्जी में भी प्याज़ काफी लाभदायक होता हैं। इस होम रेमेडी से आपकी इम्युनिटी शक्ति भी बढ़ेगी जिससे आपके सम्पूर्ण स्वास्थ्य में भी सुधार होगा।

  • एक प्याज़ को छोटे छोटे टुकडो में काटे और इस कटे हुए प्याज़ की एक चमच्च में आधा चमच्च शहद की मिलाए। पूरी तरह मिलाने पर इस मिश्रण का सेवन करे। कफ का घरेलू उपचार के लिए इस उपाय को दिन में 2-3 बार जरुर करे।

जाने : सूखी और बलगम वाली खांसी के 10 उपाय

गले  या छाती की बलगम निकलने के उपाय

  1. गर्म हर्बल छाए पिए, ये ना सिर्फ बलगम को तोड़ने का काम करती हैं बल्कि इससे निकलने वाली भाप से भी फायदा होता हैं।
  2. ज्यादा से ज्यादा पानी पिए। पानी गर्म करके पीना और बेहतर हैं।
  3. निम्बू पानी पिए। निम्बू से मिलने वाला विटामिन c इन्फेक्शन से लड़ने में मदद करता हैं।
  4. अगर आप मांसाहारी हैं तो गर्म चिकन सूप पिए।
  5. अगर आपको बलगम की शिकायत है तो बीडी सिगरेट से बिलकुल दूर रहे।
  6. दूध और उससके बनने वाले पदार्थ दही, पनीर और मीट से परहेज़ करे।

मित्रो हमारे इस लेख गले छाती में जमा कफ निकालने के उपाय : Balgam ka ilaj in Hindi? के बारे में अपनी राय हमें जरुर दे। अगर किसी पाठक के पास बलगम कैसे निकाले से सबधित कोई सुझाव है तो उसे भी कमेंट्स में जरुर लिखे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!