सिगरेट बीडी पीने के नुकसान और धुम्रपान छोड़ने के 10 आसान उपाय

धूम्रपान (स्मोकिंग) कैसे बंद करे: हम सब जानते है धुम्रपान हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक है. फिर भी लाखो लोग धुम्रपान (स्मोकिंग) करते है और बहुतो को सिगरेट पीने के लत लग जाती है. Cigarette में बहुत से हानिकारण रसायन पाए जाते है. जिनमे तम्बाकू (tobacco), टार (Taar), Carbon Monoxide, अमोनिया जैसे शामिल है. पर जो सबसे घातक होता है वो है निकोटिन (Nicotine), जो वैसे तो कम मात्रा में इतना नुकसानदायक नहीं होता लेकिन अगर इसको लगातार लिया जाए तो ये सबसे खतरनाक साबित होता है. और धुम्रपान की आदत लगने में निकोटिन सबसे बड़ा कारण है.

नौजवान इस समस्या से ज्यादा परेशान है पर आजकल कम उम्र के लोग (किशोर) भी सिगरेट पीने लगे है. कुछ लोगो के इसके साइड इफेक्ट्स और नुकसान पता नहीं होता और कुछ ऐसे है जिनको पता होते हुए भी वो स्मोकिंग छोड़ नहीं पाते है. अगर आप सिगरेट छोड़ना चाहते है या किसी अपने परिजन या दोस्त की smoking छुड़वाना चाहते है तो एक बात पहले जान ले, ये रातो रात नहीं होगा, धीरे धीरे हे हम धुम्रपान से छुटकारा पा सकेंगे.  आज इस इस लेख में हम आपको धूम्रपान छोड़ने के उपाय, तरीके और फायदे बताने जा रहे है.

धूम्रपान छोड़ने के 10 आसान उपाय - सिगरेट पीने के नुकसान

धूम्रपान (सिगरेट) के नुकसान –  Cigaret ke nuksan

  • धुम्रपान करने से कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी होने का खतरा रहता है.
  • ज्यादा सिगरेट हमारे दांतों के साथ हमारे मसूडो को भी काफी नुकसान पहुचती है.
  • स्मोकिंग करने से खांसी की समस्या भी होने लगती है
  • अधिक धुम्रपान आपको मानसिक रूप से भी कमज़ोर करता है.
  • सिगरेट ज्यादा पीने से हमारी आँखों पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है. मोतियाबिंद जैसे भयंकर बीमारी भी हो सकती है.
  • शुगर (Diabetes) की मरीज को शुगर कंट्रोल करना मुश्किल होता है अगर वो लगातार स्मोकिंग करता है.
  • हमारे पाचन तन्त्र पर भी पर इसका बुरा असर पड़ता है. इसके साथ पेट की अन्य बीमारी भी होने की संभावना बन जाती है.
  • सिगरेट पीने से मुह से बदबू भी आने लगती है.

जाने: नींद आने के 10 आसान घरेलू उपाय

 

धूम्रपान (सिगरेट) छोड़ने के उपाय, तरीके और घरेलू नुस्खे

1. धूम्रपान के आदत छोड़ने के लिए पानी के उतम उपाय है. जब भी सिगरेट पीने का मन करे एक गिलास पानी पी ले. ये ना सिर्फ सिगरेट पीने की तलब कम करेगा उसके साथ ही उसके बाद के प्रभाव को भी रोकेगा.

2. निम्बू भी एक अच्छा घरेलु नुस्खा है जो सिगरेट छोड़ने में मदद करता है. जब भी स्मोकिंग का मन करे निम्बू का रस पिए या निम्बू को चूसे.

3. खुद पर भरोसा सबसे जरुरी है. ये यकीन रखे की आप ये छोड़ सकते है और संयम बनाये रखे.

4. दालचीनी और शहद ये लत छुडाने में कारगर है. 2 चमच्च शहद में 2 चमच्च दालचीनी का चूरन मिला ले. जब भी सिगरेट की तलब लगे इस मिश्रण को चाट ले.

5. जब हम धूम्रपान बंद करते है तो जो एक सबसे बड़ी समस्या आती है वो है जी मिचलाना. ऐसे समय में अदरक के रस का सेवन करे.

6. मुली का रस निकल कर उसमे थोडा शहद मिला ले. और इसे दिन में २ बार सेवन करे. ये एक अच्छा सिगरेट छोड़ने का उपाय है.

7. स्मोकिंग की आदत लगने का जो एक प्रमुख कारण होता है वो है हमारे शरीर में निकोटिन. और अंगूर का जूस हमारे शरीर में मौजूद निकोटिन को बहार निकलता है. इसलिए जब आप धूम्रपान छोड़ने जा रहे हो तो प्रतिदिन एक बार अंगूर के जूस का सेवन जरुर करे.

8. ऐसे आपके दोस्त या जानने वाले जो धुम्रपान करते है उनसे दूर रहने का प्रयास करे. ऐसे लोगो की संगत में रहे जिनको ये बुरी आदत नहीं है.

9. सौफ को घी में भुन कर अपने पास रख ले. जब भी सिगरेट की तलब लगे थोड़े थोड़े सौंफ खा ले. इससे सिगरेट छोड़ने में आपको मदद मिलेंगी.

10. अपना एक टाइम टेबल बनाये. समय पर सोना, जल्दी उठकर घूमने जाना और व्यायाम को अपने जीवन का हिस्सा बनाये. जितना हो सके खुद को व्यस्त रखे.

सिगरेट पीने की तलब लगने पर क्या करे?

जब सिगरेट या बीडी पीने की तलब लगती है उस समय कंट्रोल करना बहुत जरुरी होती हैं. इससमे अच्छी बात ये है ऐसे तलब 5-10 मिनट तक ही आम तौर पर रहती हैं. जब भी ऐसा हो अपने मन में ये सोचते रहे की ये बस कुछ समय ही रहेगी उसके बाद इच्छा नहीं होगी. ऐसा सोचने से सिगरेट जल्दी छोड़ने में मदद मिलती हैं.

  • जब भी लगे की धुम्रपान की तीर्व इच्छा हो रही है तो खुद का ध्यान कही और लगाओ. कोई घर का काम करना शुरू कर दो, टीवी देखने लग जाओ या फिर अपने किसी दोस्त के साथ फ़ोन पे ही बाते करे. कहने का मतलब है कुछ भी ऐसा करो जिससे अपना मन धुम्रपान से हट जाए.
  • खुद को ये याद दिलाते रहे की आप सिगरेट पीना क्यों छोड़ रहे हैं. वो कारण सेहत के नुकसान को लेकर हो सकते हैं या फिर किसी से किया वादा हो सकता हैं.
  • कुछ लोग सिगरेट तभी पीते है जब वो शराब पी रहे हो. उन लोगो को या तो शराब की जगह कुछ और नॉन अल्कोहलिक ड्रिंक पीने चाहिए या फिर किसी ऐसे जगह पीनी चाहिए जहा पर धुम्रपान करना निषेध हो.

Leave a Reply

error: Content is protected !!