दस्त का इलाज, कारण, घरेलु उपचार और दस्त रोकने के उपाय हिंदी में

दस्त (loose motion) जिसे डायरिया (diarrhea) भी कहा जाता है। ये एक बहुत ही आम बीमारी है। खाने पीने मे की गई थोड़ी सी लापरवाही भी इस समस्या का कारण भी बन सकती है। दस्त लगने पर शरीर मे पानी की कमी हो जाती है। जिससे रोगी को कमजोरी महसूस होती है। कुछ लोग दस्त लगने के कारण, इलाज, उपाय के बारे मे नही जान पाते जिस कारण बाद मे यह समस्या और अधिक हो जाती है। यह रोग बच्चो को सबसे अधिक होता है। क्योकि वो कम पानी पीते है, इसमें पेट दर्द , कमजोरी बुखार जैसी परेशानी होती है। ये खराब भोजन खाने से होता है। जो हमारे शरीर की पाचन क्रिया को खराब कर देता है। और जिससे यह समस्या शुरू होने लग जाती है।

दस्त का इलाज, कारण, घरेलु उपचार - Dast rokne ke Upay in Hindi

दस्त के कारण। causes of loose motion 

  • ज्यादा मसालेदार भोजन खाने के कारण
  • बहुत कम पानी पना भी एक वजह है.
  • भूख से अधिक भोजन करने के कारण
  • गंदा पानी पीना भी एक  दस्त के कारण में से एक है।

जाने : Motapa kam karne ke Upay

दस्त से बचने के उपाय । precautions of loose motion 

  • जब तक हो सके बच्चे को माँ का दूध पिलायें।
  • जब भी भोजन खाए तो पहले अच्छे से हाथ धोएं।
  • भोजन को सदेव ढक कर ही रखें।
  • बच्चे को दूध पिलाने के लिए बोतल के बजाये कटोरी और चम्मच ही प्रयोग में लें।
  • बाहर का दूषित भोजन न करें।

दस्त होने से बचने के लिए इन उपायों का ध्यान रखना बहुत जरुरी है। अगर फिर भी किसी को दस्त की समस्या हो जाती है। तो उसका उपचार घरेलू नुस्खो द्वारा आसानी से किया जा सकता है। आज हम आपको कुछ एसे ही दस्त के घरेलू व बहुत उपयोगी नुस्खो के बारे मे बता रहे है। जिन नुस्खो का प्रयोग करके आप घर बेठे ही दस्त से छुटकारा पा सकते है।

 

दस्त का घरेलू इलाज, नुस्खे। Dast ka ilaj, gharelu upchar in Hindi

इस रोग से छुटकारा पाने के लिए घरेलू नुस्खे बहुत ही उपयोगी माने जाते है दस्त के Ghrelu ilaj in hindi इस प्रकार है

  1. सौंफ (sauf):- यदि दस्त मे थोड़ा-थोड़ा मल (potty) आता हो तो तीन ग्राम कच्ची और 3 ग्राम भुनी हुई सौंफ मिला ले और उसमे  पीसकर मिश्री मिला कर पीने से जल्द हे दस्त बंद हो जायगे।
  2. तुलसी (tulsi):- तुलसी के पत्तों का काढ़ा पीने से दस्त में मरोड़ में आराम पहुचाता है।
  3. लस्सी (lassi):- एक गिलास छाछ (lassi) में 12 ग्राम शहद मिलाये और दिन में 3 बार पिए । यह पतले दस्त रोकने के उपाय मे बहुत लाभकारी माना जाता है।
  4. पानी (water):- दस्तों के कारण हजारों हर साल  मर जाते हैं, इसका प्रमुख कारण है शरीर में पानी की कमी होना. बच्चो को जितना हो सके पानी पिलाये, बच्चा जितना अधिक पानी पियेगा उतना ही जल्दी ठीक होगा। यह एक बहतरीन दस्त का घरेलू उपचार है।
  5. मसूर की दाल व चावल:- ये दस्त और पेचिश के रोगियों के लिए एक उचित खाना है। गेहूँ और सौंफ को अच्छी तरह बारीक पीस कर इसे पानी में मिलाये । इस पानी में गेहूँ का आटा मिला कर कर रोटी बनाकर खाने से दस्त और पेचिश के इलाज में लाभ होता है।
  6. काली चाय (black tea):- Black Tea यानि काली चाय दस्त रोकने का एक अच्छा उपाय है. एक कप बिना चीनी के ब्लैक टी पिने से जल्द हे दस्त बंद होने में मदद मिलती है.
  7. केला (banana):- केला दस्त में एक उपयोगी फल है. अगर आपको दस्त लगे है और वो रुक नहीं रहे तो केला खाए, जदल हे आपके दस्त बंद हो जायगे.
  8.  कपूर (kapoor):- कपूर (पिसा हुआ) और दो चुटकी चीनी मिलाकर फांक लें। ऐसी 2-3 खुराक लेने पर पतले दस्त बन्द हो जाते हैं। बड़ी आयु वाले इसकी मात्रा बढ़ाकर लें। बच्चों के लिए यही मात्रा ठीक है। यह बहुत ही उपयोगी दस्त का घरेलू इलाज  है।
  9. दूध (milk):- आधा गिलास कच्चा दूध ले और उसमे एक  नीबू निचोड़ कर उसका रस मिला कर पिये। एक बात का ध्यान रहे दूध फटने से पहले ही आपको ये पीना है.
  10. निम्बू (nimbu):- एक गिलास पानी में 1 निम्बू का रस उसमे डाले और स्वादानुसार थोड़े चीनी मिला कर पिए। आपको दस्त में राहत मिलेगे.

बच्चो के दस्त की दवा, रोकने के उपाय | Bachon ke dast ka ilaj

क्या आपका बच्चा लगातार दस्त से परेशान रहता है? दस्त से होने वाली कमजोरी बच्चों को सुस्त बना देती है। तो एसे मे बच्चो का खास ख्याल रखना बहुत आवश्यक है। बच्चे को पतले दस्त होने पर दूध बंद करने की जरूरत नहीं हैं। पर बच्चे के भोजन में बदलाव करना चहिये जैसे पतली खिचड़ी में दही मिलाकर देना चाहिए. बच्चो को दस्त लगने पर O.R.S का घोल पिलाना भी बच्चो के दस्त के दौरान पानी की कमी को पूरा करता है.

Leave a Reply

error: Content is protected !!