दालचीनी के 10 फायदे और नुकसान : Cinnamon Benefits in Hindi

Dalchini Powder ke Fayde in Hindi : एक समय था जब दालचीनी को सोने से भी कीमती माना जाता था। ऐसा दालचीनी से होने वाले अनेको स्वास्थ्य फायदों की वजह से था।  दालचीनी को कई रोगों के इलाज के लिए एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में बरसो से इस्तेमाल किया जाता रहा है। पेट में एसिडिटी हो, स्ट्रोक हो या शुगर (मधुमेह) जैसे लाइलाज बीमारी, दालचीनी पाउडर के सही तरीके से सेवन से इन सब बीमारियों में फायदा होता है। वजन घटाने (weight loose) करने में भी सिनेमोन काफी असरदार होती है . ऐसे ही कुछ दालचीनी के फायदे और नुकसान के बारे में आगे जानेंगे।

दालचीनी में कैल्शियम, मैंगनीज और आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसे भारतीय खानो में आम तौर पर डाला जाता है जिससे ना सिर्फ खाना स्वादिस्ट बनता है बल्कि कई तरह के स्वास्थ्य लाभ भी होते है। दालचीनी पाउडर को आयुर्वेदिक और चीनी दवाइयों में हजारो सालो से इस्तेमाल किया जाता रहा जिनका सेवन कैंसर, फ्लू और पेट की कई बीमारियों के उपचार के लिए किया जाता है।

दालचीनी के फायदे नुकसान dalchini ke fayde in Hindi

दालचीनी के फायदे नुकसान

दालचीनी के फायदे : Cinnamon Benefits in Hindi

1. शुगर का इलाज

शुगर को जड़ से ख़त्म करने के लिए कोई दवाई नहीं बनी है ये बात एकदम सही है। खासकर डायबिटीज टाइप बी का ट्रीटमेंट अभी तक मिला नहीं है। डायबिटीज को कण्ट्रोल में किया जा सकता है। कुछ ऐसे स्टडी करने के बाद स्वास्थ्य विशेषज्ञ का ये कहना है दालचीनी से ब्लड शुगर को कम करके डायबिटीज को नियंत्रण में किया जा सकता है। रोजाना 1-2 चमच्च दालचीनी पाउडर खाने के साथ का सेवन करने से शुगरकंट्रोल करने में मदद मिलेगी।

2. चेहरे से पिम्पल से छुटकारा पाए

ऑयली स्किन वाले चेहरे पर पिम्पल होने की संभावना ज्यादा रहती है। दालचीनी से बने घरेलू नुस्खे से हम फेस पर कील मुहासों से छुटकारा पा सकते है। दालचीनी फेस से तेल ख़त्म करने के साथ वहा की उपरी की मांशपेशियो में ऑक्सीजन और खून के दौरे का प्रवाह बेहतर करता है।

3 चमच्च शहद में एक चमच्च दालचीनी पाउडर मिलाए और इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाए। आधे घन्टे बाद चेहरा धोले, ये घरेलू उपाय हफ्ते में एक बार करे।

3. सर्दी खांसी का उपचार

मौसम बदलने के साथ ठण्ड लग जाने पर खांसी और गले में खराश हो जाती है। ऐसे में दालचीनी आपके लिए एक रामबाण उपाय साबित हो सकता है। जब भी किसी को सर्दी लग जाए एक दालचीनी की छड़ी को गरम पानी में डालकर थोड़ी देर के लिए रखे और उस पानी में थोडा शहद मिलकर पिए।

4. पाचन शक्ति में सुधार

पाचन क्रिया बेहतर बनाने और हाजमा सुधारने में दालचीनी प्रभावी है। पेट से जुडी कई समस्याओ के घरेलू उपचार में दालचीनी काफी असरदार होती है वो चाहे दस्त लगे हो या पेट साफ़ ना हो रहा हो। दालचीनी एंटीबैक्टीरियल होता है जिससे जीआई ट्रैक में इन्फेक्शन खत्म करने में मददगार होता है। दस्त लगने पर एक कटोरी दही में आधा चमच्च दालचीनी पाउडर मिलकर खाने से कुछ ही समय में राहत महसूस होने लगेगी।

5. वजन कम करे (Dalchini for weight loss in Hindi)

अगर आप मोटापे से ग्रस्त है और जल्द ही कुछ किलो वेट कम करना चाहते है तो दालचीनी आपके लिए एक वरदान बन सकती है। दालचीनी को शहद और निम्बू के साथ मिलकर सेवन करने से इसका प्रभाव और बढ़ जाता है। एक कटोरा पानी में एक दालचीनी स्टिक डालकर उबाले और उसका पानी थोडा ठंडा होने पर उसमे एक निम्बू निचोड़े। अब इसमें थोडा शहद मिलकर पिए।

6. जोड़ों का दर्द में राहत

गठिया रोग की वजह से जोड़ो में दर्द और सुजन बन जाती है। दालचीनी ऐसे दर्द और सूजन को कम करने में मदद करती है। एक कप गरम पानी में 2 चमच्च शहद और एक चमच्च दालचीनी पाउडर की मिलाए और जब भी जोड़ो में दर्द हो इसे पिए।

7. कैंसर से बचाव

इस हर्बल औषधि में कई कैंसर विरोधी गुण पाए जाते है। पानी में दालचीनी चूर्ण और शहद मिलकर पिए। इस मिश्रण के सेवन से हड्डियों और पेट के कैंसर से बचाव होता है

 

दालचीनी के नुकसान : Cinnamon Side Effects in Hindi

दालचीनी के नुकसान  Cinnamon Side Effects in Hindi

दालचीनी एक औषधीय गुणों के बारे में तो आप उपर जान चुके है। पर किसी भी चीज की अति नुकसानदायक होती है, वही हम दालचीनी के बारे में भी कह सकते है। वैसे इस हर्बल मसाले का सेवन को सुरक्षित ही माना जाता है पर अगर जरुरत से ज्यादा खाने में उपयोग या किसी और तरीके से सेवन किया जाए तो दालचीनी के कुछ नुकसान भी हो सकते है।

  • दालचीनी का अधिक सेवन खून को पतला कर सकता है। इसलिए दिल की बीमारियों से पीड़ित इसके सेवन से बचे।
  • प्रेगनेंट महिलाओ को भी दालचीनी से दूरी बनाए रखनी चाहिए क्योंकि इसके सेवन से गर्भाशय में संकुचन होने की संभावना बनती है जिससे समय से पहले डिलीवरी हो सकती है।
  • इस हर्बल मसाले का खाने में अधिक उपयोग सांस की समस्या पैदा कर सकता है। इसलिए विशेषकर जिनको सांस से संबधित दिक्कत रहती है वो इससे परहेज करे।
  • कुछ अध्ययन से ये पता लगा है दालचीनी अधिक मात्रा में नियमित लेने से किडनी पर बुरा असर पड़ता है।
  • लगातार लम्बे समय तक ज्यादा दालचीनी खाने से लीवर के रोग पैदा हो सकते है।

ये भी पढ़े :

दोस्तों उपर बताए दालचीनी के फायदे नुकसान : Cinnamon ke Fayde in Hindi? को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले। अगर किसी पाठक के Dalchini को लेकर कोई सवाल है तो बेजिझक कमेंट में पूछे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!