भूख बढ़ाने के 5 रामबाण घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक दवा

भूख बढ़ाने के घरेलू नुस्खे व दवा इन हिंदी : मनुष्य के शरीर के सभी अंगो को सुचारू रूप से काम करने के लिए कुछ पौषक तत्वों की आवश्यकता होती हैं। ये पौषक तत्व हमें भिन्न-भिन्न खाद्य पदार्थ खाने से मिलते हैं। पर कई बार कुछ लोगो को भूख लगना कम हो जाती हैं जिससे वो पर्याप्त मात्रा में भोजन नहीं कर पाते जिनसे उनके शरीर में कई तरह की स्वास्थ्य संबधित समस्याए पैदा हो सकती हैं और उन्हें जल्दी बीमार पड़ने की संभावना भी बढ़ जाती हैं। भूख खत्म होना अधिकतर मामलो में कुछ समय के लिए ही रहती है और अक्सर टेंशन, शारीरिक गतिविधिया कम करना और तनाव जैसे समान्य कारण होते हैं। भूख कम लगने से हम खाना कम खाते है लम्बे समय तक ऐसा रहने से शरीर कमज़ोर और दुबला पतला हो जाता हैं। दोस्तों आज आप पढेंगे भूख बढ़ाने के घरेलू उपाय : Bhukh Badhane ke gharelu Nuskhe, Dawa Syrup in Hindi.

कम भूख की दिक्कत बच्चे जवान और बूढ़े किसी को भी हो सकती हैं। बहुत से माता पिता की ये शिकायत रहती है की उनका बच्चे को भूक कम लगती हैं। पढाई का ज्यादा प्रेशर और कुछ भी उल्टा सीधा खा लेना बच्चो की भूख को ज्यादा प्रभावित करना हैं। खाना पान में कमी बच्चो के विकास में भी बाधा डालते हैं।

भूख ना लगने के कारण : Appetite Loss in Hindi

  1. ज्यादा टेंशन में रहना
  2. एक जगह ज्यादा बैठे रहना, एक्सरसाइज या शारीरिक गतिविधिया ना करना
  3. लिवर की कोई बीमारी होना
  4. अत्याधिक तनाव में रहना
  5. पाचन तंत्र में गड़बड़ी होना
  6. शराब का अधिक सेवन करना
  7. कब्ज़, गैस या एसिडिटी होना
  8. फ्लू या बैक्टीरियल इन्फेक्शन होना
  9. प्रेगनेंसी में भी भूक की कमी हो जाती हैं
  10. दवाओ का अत्यधिक सेवन या साइड इफ़ेक्ट होना

भूख बढ़ाने के घरेलू नुस्खे Bhukh Badhane ke syrup tablet dawa

भूख बढ़ाने के घरेलू नुस्खे व दवा

Bhukh Badhane ke gharelu Nuskhe in Hindi

निचे कुछ ऐसे भूक बढ़ाने के घरेलू नुस्खे है जिनसे आपका खाना खाने का मन फिर से करने लगेगा। भूख लगने के लिए कई आयुर्वेदिक दवा, टेबलेट और पीने की सिरप भी ली जा सकती है जिनके बारे में भी आगे जानेंगे।

1. आंवला

भूख बढ़ाने के लिए आंवला एक प्रभावी घरेलू नुस्खा होता हैं। ये हमारे पाचन तन्त्र को सही से काम करने में मदद करता है और साथ में लिवर की अशुद्धियो को भी दूर करता हैं। आंवला और शहद का मिश्रण उलटिया और जी मितलाना जैसे पाचन संबधित समस्याओ से भी लड़ने में मददगार होता हैं।  इसमें विटामिन c उच्च मात्रा में पाया जाता है जो इम्युनिटी सिस्टम को सुधार करता है और खाने से खनिजो के अवशोषण की प्रक्रिया को और बेहतर बनाता हैं।

  • एक कटोरी में आंवले का रस, निम्बू रस और शहद की 2-2-2 चमच्च ले और उसे अच्छे से मिला ले। इसे सुबह के समय खाली पेट पिए।

2. काली मिर्च (Black Paper)

आयुर्वेद के अनुसार काली मिर्च को पुराने समय से भूख ना लगने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा हैं। इस आयुर्वेदिक नुस्खे से हाजमा बेहतर होता हैं जिससे भूख अच्छी लगती हैं और पेट की अन्य दिक्कतों में भी राहत मिलती हैं। काली मिर्च स्वाद वाले हारमोंस को प्रभावित करती हैं जिससे पेट में हाइड्रोक्लोरिक एसिड का स्त्राव होता है और पाचन क्रिया बेहतर होती हैं

  • इस होम रेमेडी को बनाने के लिए गुड को थोडा पीस कर पॉवडरनुमा बनाए और इसके एक चमच्च में आधा चमच्च काली मिर्च पाउडर की मिलाए। कुछ दिनों तक इसका सेवन नियमित रूप से करे।

नोट : अगर किसी को पेट में अल्सर या हाल ही में कोई पेट की सर्जरी हुई है तो इस नुस्खे को ना करे।

3 . धनिये का रस

भूख में सुधार लाने में धनिये का रस गजब काम करता हैं। खाना हजब करने के लिए हमारे पेट में एक गैस्ट्रिक रस का स्त्राव होता है जो खाने को जल्दी पचने में मदद करता है और धनिया इस रस के स्त्राव पर सकारात्मक प्रभाव डालता हैं। धनिया का रस पेट में गैस, एसिडिटी और अपच जैसे हाजमे की दूसरी बीमारियों में भी आराम पहुंचाता हैं।

  • धनिये के ताज पत्तो से रास निकाले  और रोज आधा चमच्च इस रास को पिए। भूक बढ़ाने की सिरप की जगह आप इस होम रेमेडी का सेवन किया जा सकता हैं।

4. अजवाइन

अजवाइन को पाचन तन्त्र के लिए काफी अच्छा माना जाता हैं। अजवाइन पेट में पाचन एसिड का स्त्राव बेहतर करने के साथ खाने के हाज़मे में सुधर लाता हैं जिसे भूख बढ़ने लगती हैं।

  • निम्बू का थोड़ा जूस निकाले और उसमे 3 चमच्च अजवाइन के डाले और उसे पूरी तरह सूखने दे। पूरी तरह सुख जाने के बाद उसमे थोड़ा काला नमक मिलाये। दिन में 2  बार इस मिश्रण की एक चमच्च सुबह शाम एक गिलास गर्म पानी के साथ ले। एक दूसरा आसान तरीका है आधा चमच्च अजवाइन के बीज खाना खाने से पहले चबाए।

5. लहसुन

भूख ना लगने का मतलब है आपका पाचन तंत्र सही से काम नहीं कर रहा और लह्सुन का सेवन इसमें चमत्कारी परिणाम देता हैं। एक कप पानी में 3-4 लह्सुन की कलिया डाले और उससे उबाले, ठंडा होने पर इसमें आधे निम्बू का रस भी मिलाए। इस होम रेमेडी का सेवन दिन में 2 बार भूख में सुधार आने तक करे।

भूख बढ़ाने की दवा : Bhukh badhane ki Ayurvedic dawa (Syrup, Tablet)

हमारे बहुत से पाठको का ये सवाल भी काफी होता है की भूख बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा, सिरप या टेबलेट कौन सी हैं? वैसे तो बाज़ार में ढेरो ऐसे दवाए मिलती है जो भूख बढाने का दावा करती हैं। आज हम ऐसे ही एक ऐसे हर्बल आयुर्वेदिक दवा के बारे में बात करेंगे जिसके रिजल्ट काफी अच्छे हैं। इस दवा का नाम liv 52 हैं।

Bhukh badhane ki Ayurvedic dawa (Syrup, Tablet)

Bhukh badhane ki Syrup, Tablet

Liv 52 एक हर्बल औषधि है जो लीवर की बीमारियों में फायदेमंद होती हैं और लिवर को सुचारू रूप से काम करने में मददगार होती हैं। इस मेडिसिन में कई ऐसे हर्ब होते है जो हाजमे मे सुधर करके जल्दी भूख बढ़ाने में कारगर होते हैं। लिवर के लिए हनिकर्ण टॉक्सिक को भी खत्म करने में सहायता करती हैं। Liv 52 को हम टेबलेट और पीने की सिरप दोनों रूप में ले सकते हैं।

मित्रो ये लेख भूख बढ़ाने के घरेलू नुस्खे दवा : Bhukh Badhane ki Syrup, Tablet? अगर आपको पसंद आया है तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि और भी लोग इससे फायदा उठा पाए। अपने सवाल या सुझाव निचे कमेंट में जरुर लिखे।

One Response

  1. Rajendra

Leave a Reply

error: Content is protected !!