बवासीर का इलाज उपचार के घरेलू नुस्खे लक्षण और उपाय

बवासीर का घरेलू इलाज, लक्षण और उपाय | Piles Treatment in Hindi

बवासीर एक ऐसे बीमारी है जो किसी को भी हो सकती है. इंग्लिश में बवासीर को Piles कहते है. अगर आप भी इस रोग से पीड़ित है तो एक बात ध्यान रखे, कभी भी इसको छुपाये मत, शर्माने की कोई जरुरत नहीं है. बिना किसी झिझक के बवासीर या किसी भी अन्य बीमारी के बारे में बात करनी चाहिए. बवासीर का घरेलु इलाज, उपचार, लक्षण, दवा जाने से पहले हमें ये भी पता होना चहिये की ये रोग होता क्यों है. इसके होने का सबसे बड़ा कारन कब्ज़ है. लम्बे  समय तक हुए कब्ज़ बवासीर को जन्म दे सकता है. इसलिए अगर किसी को काफी टाइम से कब्ज़ है निचे दिए गए लिंक से कब्ज़ के इलाज के लिए उपाय को अच्छे से देखे.

 

बवासीर से होने वाला दर्द असहनीय होता है. Bawasir 2 तरह का होता है, बहरी और भीतरी. अंदर वाले में मस्से दिखाई नहीं देते वो अंदर होते है, इस वाले में पीड़ा काफी ज्यादा होती है वो इसलिए क्योंकि जब मल बहार निकलता है तो वो उसमे रगड़ते हुए निकलता है जिससे काफी Bawasir ka Dard होता है. इसमें गुदा के अंदर काफी खुजली भी महसूस होती है. बाहरी में मस्से और सुजन दिखाई देती है. इसमें दर्द ज्यादा नहीं होता. कई बार मल के साथ काफी खून भी साथ आ जाता है है, जिसे खुनी बवासीर (Khooni Bawasir) भी कहते है. आइये जानते है बवासीर का घरेलू इलाज, उपचार ( Bawaseer Gharelu ilaj, Upchar, Nukhse) .

बवासीर का घरेलु इलाज, उपचार, लक्षण, दवा Bawasir ilaj Upay

 

बवासीर के लक्षण: Piles ke Lakshan in Hindi

  • गुदा में खुजली या दर्द रहना
  • मल त्यागने के समय मल के साथ खून निकलना
  • गुदा के आस पास सूजन आ जाना बवासीर का लक्षण है
  • शरीर में काफी कमजोरी महसूस होना
  • गुदा द्वार के बाहरी या भीतरी तरफ फुंसी निकलना.

जाने: बवासीर का इलाज बाबा रामदेव योग और दवा से

 

बवासीर का उपचार के घरेलू नुस्खे और उपाय | Bawasir ka ilaj in Hindi

1.अनार की छिलके  पानी मे डाल के उबाल ले और उस पानी को ठंडा करके दिन मे 2 बार  पीना. बवासीर के इलाज में यह एक कारगार उपाय है.

 

2. रात को अंजीर के कुछ दाने पाने मे भिगो दो और सुबह के टाइम एक-एक करके खाए.

 

3. गाजर और शलजम का रस्स भी इसके  इलाज करने मे लाभदायक है.

 

4. जिनको मल के साथ खून आता है, जिसे खुनी बवासीर भी कहते है . वो गुड और मक्खन (Butter)) के साथ काले टिल खाए. ये नुख्सा खून को रोकने में अच्छा काम करता है.

 

5.किशमिश को रात को पाने मे भिगो दे. फिर उसे सुबह के टाइम खाए, Bawasir ke Upchar के लिए ये एक उपयोगी घरेलु नुख्सा है.

 

6. नींबू, अदरक के जूस को पुदीने की पट्टी और शहद के साथ दिन मे 3 बार खाए.

 

7. जितना हो सके पानी पीये, दिन में 3-4 लीटर पानी जरुर पीना चाहिए.

 

8. ऐसे खाना खाए जिसमे ज्यादा से ज्यादा रेशे (Fibre) हो, जैसे की हरे पत्तेदार सब्जिया और साथ में फलों (Fruits) का सेवन करे.

 

9. बवासीर के इलाज योग से करेने के लिए कपालभाती और परनायाम करे. Bawasir ke gharelu nukhso के साथ  ये योग करने से भी आपको आराम जल्दी  मिलेगा.

 

बवासीर का इलाज के घरेलू उपाय और परहेज़

  • जामुन के बीज और आम की गुठली सुखा कर उन्हें पीस कर उनके चूरन को आपस में मिला ले. इस चूरन की एक चमच्च और शहद का रोजाना 2 बार सेवन करे.
  • पके हुए पपीते को पीस कर उसका पेस्ट बना ले. इस पेस्ट में सरसों का तेल अच्छी तरह मिला के बवासीर के मस्से पर लगाये.
  • तले हुए मसलदार खाने से परहेज करे
  • चाय और कॉफ़ी का सेवन कम से कम करे.
  • सिगरेट, तम्बाकू और शराब जैसे नशीली चीजो से दूर रहे.
  • चिकन, मटन, मछली और दूसरी सभी मांसहारी खानों से बवासीर के उपचार के दौरान परहेज बनाये रखे.

2 Comments

  1. Punit
  2. monu yadav

Leave a Reply

error: Content is protected !!