बार बार पेशाब आने का कारण व इलाज के 6 रामबाण उपाय

Bar Bar Peshab aane ka ilaj : अगर आपको रात में उठकर बार बार पेशाब करने के लिए टॉयलेट जाना पड़ता है और दिन में भी ज्यादा पेशाब लगने से परेशान है तो घबराने की जरुरत नहीं आज हम आपको अपने ब्लॉग की इस पोस्ट में बार बार पेशाब लगने का कारण और उसके इलाज के घरेलू उपाय बताएँगे. जब भी हम कुछ खाते पीते है तो हमारा शरीर उसमे से हमारे काम के जरुरी पौषक तत्व लेकर फालतू बचे हुए हुए को मल और मूत्र के रूप में बहार निकल देता है. आमतौर पर एक सामान्य व्यक्ति दिन में 4 से 6 बार पेशाब करता है जो 700ml से 3 लीटर के बीच में होता है.

 

जब हमें इससे ज्यादा पेशाब (मूत्र) आये और 6 से ज्यादा बार टॉयलेट जाना पड़े तो हमें इसके उपचार की जरुरत है. ये जब होने लगता है तो हमारा अपने मूत्राशय (यूरिन ब्लैडर) पर नियंत्रण रहना कम हो जाता है जिसे अतिसक्रिय मूत्राशय (Overactive Bladder) भी कहते है. ऐसा होने किसी के लिए भी काफी तकलीफदेह बन जाता है. डॉक्टर के अनुसार अगर हर 2 घंटे या इससे कम समय में हमें पेशाब करना पड़े तो उससे इसे  ये समस्या माना जाता है. बार बार पेशाब आना का इलाज करने से पहले वो किस वजह से हुआ है उसके कारण जानना जरुरी है तभी हम इसका सही से उपचार कर पाएंगे.

Baar baar peshab aane ka ilaj karan aur Gharelu Upay in Hindi

बार बार पेशाब लगने के कारण – Jyada Peshab aane ke karan

  • पेशाब में इन्फेक्शन (Bladder infections) बन जाना.
  • शुगर (Diabetes) के रोगी को पेशाब ज्यादा आता है.
  • मूत्रमार्ग में पथरी का होना एक वजह हो सकती है.
  • चाय कॉफ़ी या और दुसरे तरल पदार्थो का ज्यादा सेवन करना.
  • बच्चो को बार बार पेशाब आने का कारण पेट में कीड़े होना हो सकता है.
  • सर्दियों के मौसम में ज्यादा मूत्र आता है.
  • किसी अन्य बीमारियों के ट्रीटमेंट के लिए ली गयी दवाओ के असर से भी ये हो सकता है.

ज्यादातर औरत और बच्चो में बार बार ज्यादा पेशाब आने का कारण यूरिन इन्फेक्शन होता है.

जाने: यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण और आयुर्वेदिक देसी घरेलू इलाज

 

बार बार ज्यादा पेशाब आने का इलाज के घरेलू उपाय

Baar Baar Peshab aane ka ilaj in Hindi

 

1. मेथी के बीज: Methi se jyada peshab aane ka upay

मेथी के बीज में विटामिन्स और जिंक जैसे बहुत से मिनरल होते है जो हमारे बार बार पेशाब आने का इलाज में फायदेमंद है.

4-5 बड़े चमच्च मेथी बीज ले कर उसे धीमी आंच में भुन ले जब तक उसका रंग गहरा भूरा ना हो जाए. अब इन बीजो को ठंडा होने के लिए रख दे और उसके बाद इन को पीस आकर पाउडर बना कर रख ले. रोजाना आधी चमच्च इस पाउडर की पानी के साथ सेवन करे.

 

2. आंवला और केला: Amla se Baar baar peshab aane ka ilaj

बार बार पेशाब आना का आयुर्वेदिक इलाज के लिए आंवला एक प्रभावी घरेलू उपाय है. जैसा की हम सब जानते है आंवला में पाए जाने वाले लाभदायक गुणों की वजह से इसको बहुत से बीमारियों से छुटकारा पाने में इसका इस्तेमाल किया जाता है. ठीक वैसे इसे मूत्र रोग से निजात पाने के लिए भी आंवला एक फायदेमंद घरेलू नुस्खा है. आंवला हमारे मूत्राशय की सफाई करता है और साथ में वहा की मांशपेशियो को भी मजबूत बनाता है जिससे पेशाब को रोकने में मदद मिलती है.

एक आंवला पीसकर उसका रस निकल ले और उसमे एक चमच्च ब्राउन शुगर और एक चमच्च शहद की मिला ले. इस मिश्रण का एक केले के साथ सेवन करे. दिन में 2 से 3 बार इसका सेवन करे.

 

3. अनार का रस

अगर आपको रात में बार बार पेशाब आना के समस्या से परेशान है तो अनार आपके लिए एक असरदार घरेलू नुस्खा है. अनार एक ऐसा फल है जो एंटी ऑक्सीडेंट और ellagic acid का स्त्रोत है जो पेशाब के रोग के उपचार में मददगार है.

अनार के बीज निकाल कर उसका जूस बना ले और रोजाना 1-2 गिलास पिए, जल्द हे आपको इस रोग से छुटकारा मिल जायगा.

 

4. दही

दही में Lactobacillus acidophilus नाम का बैक्टीरिया पाया जाता है. जो हमारे शरीर और ब्लैडर (मूत्राशय) में नुक्सानदायक बैक्टीरिया को पैदा होने से और जो है उनको बढ़ने नहीं देता. इसलिए अगर आपको पेशाब में इन्फेक्शन (urine infection) की वजह से ज्यादा पेशाब आने लगा है तो बार बार टॉयलेट आने के उपचार के लिए दही प्रभावी प्राकर्तिक तरीका है. इसके लिए आपको प्रतिदिन 1 से 2 कटोरी ताज़ा दही के खानी है.

 

5. जीरा: Cumin se baar baar toilet aane ka ilaj

हमारी किचेन में इस्तेमाल किए जाने वाले मसालों में जीरा आम है. आप में से बहुत से शायद ये नहीं जाते होंगे की जीरे में ऐसे लाभकारी गुण है जिस वजह से इसे दवा के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है.  जीरा में आयरन काफी मात्रा में होता है. ये हमारे ब्लैडर की सफाई करता है और किसी भी तरह का इन्फेक्शन होने से रोकता है.

 

6.  बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा स्वभाव में एल्कलाइन होता है जिससे ये पेशाब का ph लेवल बनाए रखने में मदद करता है. साथ में ब्लैडर में जलन को भी करता है जिससे पेशाब बार बार आने की समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिलती है. एक गिलास पानी में आधा चमच्च बेकिंग सोडा मिलकर पिए.

एक कप पानी में एक चमच्च जीरे के दाल कर उसे उबाल ले. अब उसे ठंडा करके उसमे एक चमच्च शहद की मिला ले. इस चाय को रोजाना सुबह शाम 2 बार पिए. ये एक बार बार पेशाब लगना के इलाज का घरेलू उपाय  है.

Leave a Reply

error: Content is protected !!