अरण्डी का तेल के फायदे और उपयोग : Castor Oil Benefits in Hindi

What is Castor Oil in Hindi :आरंडी के तेल को अंग्रेजी भाषा में कैस्टर आयल कहते है इस तेल के ढेरो फायदे है और ये दिखने में पीले रंग का होता है और इसमें चिकनाई दूसरे तेलों के मुकाबले थोड़ी ज्यादा होती है। आरंडी का पौधा भारत और अफ्रीका के कुछ देशो में ज्यादा पाया जाता है।  कैस्टर आयल को कई औषधियों और ब्यूटी प्रोडक्ट में भी इस्तेमाल किया जाता है सुन्दर घने और मजबूत बाल पाने के लिए कास्टर आयल काफी उपयोगी है। इसके साथ बालो से जुडी समस्या जैसे बालो का झड़ना और डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए भी अरंडी का तेल इस्तेमाल किया जाता है। चलिए आज के इस लेख में जानते है अरण्डी का तेल के फायदे और उपयोग : Castor (Arandi) Oil Benefits in Hindi.

जब आप छोटे थे आपके दादी माँ ने किसी बीमारी के घरेलू उपचार के लिए अरण्डी का तेल उपयोग करने की बात कहते सुना होगा। ऐसा Castor Oil से होने वाले कई तरह के फायदों की वजह से है। Arandi के तेल में प्रोटीन, विटामिन इ और ओमेगा 6 उच्च मात्रा में पाया जाता है जो हमारी त्वचा और बालो के लिए काफी फायदेमंद होते है।

अरण्डी का तेल के फायदे उपयोग  Castor Oil Benefits in Hindi

Castor Oil Benefits in Hindi

अरण्डी का तेल के फायदे : Castor Oil Benefits in Hindi

अरंडी के तेल को इसके एंटी बैक्टीरियल गुणों के वजह से भी जाना जाता है। कई स्टडी से निष्कर्ष निकलकर आया है की कैस्टर आयल में unsaturated fatty acids पाए जाते है जो इस तेल के उपयोग और फायदे और बढ़ा देते है।

1. बालो के विकास में बढ़ावा

अरण्डी के तेल में राइसिनोलिक एसिड होता है जो सिर में ph के उचित लेवल को बनाने में मदद करता है। जो बालो में रुसी होने से रोकता है जिससे बालो का झड़ना कम होता है। इसके अलावा Castor Oil बालो के जड़ो को मजबूती प्रदान करता है और बालो के विकास में मदद करता है।

  • अगर आप सुन्दर, मजबूत, घने और चमकदार बाल पाना चाहते है तो सोने से पहले गुनगुने आरंडी के तेल से बालो की मसाज़ करे और सुबह सिर धो ले।

 

2. जोड़ो के दर्द में राहत

जोड़ो में दर्द के इलाज के लिए कैस्टर आयल काफी उपयोगी है। इस तेल से मालिश करने से जोड़ो में दर्द के समय आने वाले सूजन और दर्द में राहत मिलती है। ये तेल anti-inflammatory होता है जो मांसपेशियों में होने वाली सूजन को कम करता है। गठिया रोग से पीड़ित कास्टर आयल से हलके हाथो से मालिश करे और उसके साथ गर्म पानी से सिकाई करे।

 

3. चेहरे की झुरिया में कमी

उम्र बढ़ने के साथ चेहरे पर झुरिया (wrinkle) आने लगती है और झुरियो को बुढ़ापे के निशानी के रूप में भी देखा जाता है। हम सब चाहते है जवान दिखना और उसके लिए झुरिया जितना कम हो उतना बेहतर। अरण्डी तेल से जब फेस मसाज की जाती है तो ये तेल त्वचा में भीतर तक प्रवेश कर जाता है जिससे जरुरी नमी मिलती है। चेहरे पर दाग धब्बे मिटाने में भी castor oil मदद करता है।

  • आरंडी के तेल से चेहरे की गोलाई में हलके हाथो से मसाज़ करे। ये मसाज़ रोजाना सोने से पहले करे। बेहतर परिणाम पाने के लिए 3-4 महीने तक रोजाना मसाज़ करे।

 

4. पिम्पल (मुँहासे) से छुटकारा

चेहरे पर होने वाले मुँहासे से छुटकारा पाने के लिए कैस्टर आयल का उपयोग एक असरदार घरेलू उपाय है। इसमें राइसिनोलिक एसिड होता है जो पिम्पले पैदा करने वाले बैक्टीरिया को ख़त्म करने में सक्षम होता है।

  • चेहरे को पहले गर्म पानी से धोले, इससे चेहरे के छिद्र खुल जाएंगे। अब आरंडी के तेल से circular motion में फेस मसाज करे। 7 -8 घंटे बाद ठन्डे पानी से चेहरा ढोले।

 

5. अरंडी के तेल का उपयोग सूखे फटे हुए होंटो के लिए

सूखे फ़टे हुए होंठो के लिए अरंडी का तेल काफी फायदेमंद होता है। ये तेल होंठो में जरुरी नमी को बनाए रखने में मदद करता है और उसके साथ होंठो को सही से पोषित करता है जिससे नरम रहते है और होंठ फटने से बचाव होता है। होंठो पर castor oil लगाने से होंठ गुलाबी और चमकीले भी होते है।

  • एक चमच्च अरंडी का तेल और एक चमच्च ग्लिसरीन के साथ कुछ बुँदे निम्बू रस की मिलाए। इन सब को अच्छे से मिलाने के बाद रात को होंठो पर लगाए। सुबह उठने पर एक रुई गर्म पानी में भिगोकर उससे होंठ साफ़ करे।

 

6. बेहतर रोग प्रतिरोधक शक्ति

किसी भी रोग से लड़ने के लिए हमारी इम्युनिटी यानि रोग प्रतिरोधक शक्ति अच्छी होना जरुरी होता है। कई अध्ययन में ये पाया गया है अरंडी का तेल रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने में मदद करता है।

  • कैस्टर आयल से शरीर में T-11 कौशिकाओ का निर्माण होता है जिन्हे white blood cell भी कहते है। इन कौशिकाओ से एंटीबॉडी बनती है जो कई तरह के वायरस से लड़ने में मदद करते है ऐसे वायरस जिनसे कई तरह के इन्फेक्शन होते है।

 

7. कैस्टर आयल से दाद का इलाज

एक बार दाद हो जाए तो जल्दी से पीछा नहीं छोड़ता। लेकिन अरंडी के तेल से दाद का बड़े प्रभावी ढंग से इलाज किया जा सकता है। इस तेल में undecylenic acid होता है जो दाद को जड़ से खत्म करने में मदद करता है।  ये घरेलू नुस्खा तैयार करने के लिए 2 चमच्च कैस्टर आयल में 4 चमच्च नारियल तेल मिलाए। अब इस मिश्रण को दाद वाली जगह पर लगाए।

 

दोस्तों अगर आपको ये लेख अरण्डी का तेल के फायदे : Castor Oil Benefits in Hindi? अच्छा लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले।

Leave a Reply

error: Content is protected !!